उप चुनाव का प्रचार थमा, अब इन दिग्गजों की प्रतिष्ठा है दांव पर

प्रदेश की सहाड़ा, सुजानगढ़ और राजसमंद सीट पर होने वाले उप चुनावों के लिए प्रचार गुरुवार शाम को थम गया। ऐसे में इन क्षेत्रों में रहने वाले दिग्गजों की प्रतिष्ठा दाव पर है।

By: Umesh Sharma

Published: 15 Apr 2021, 05:50 PM IST

जयपुर।

प्रदेश की सहाड़ा, सुजानगढ़ और राजसमंद सीट पर होने वाले उप चुनावों के लिए प्रचार गुरुवार शाम को थम गया। तीनों ही सीटों पर भाजपा और कांग्रेस प्रत्याशियों के प्रचार के लिए ज्यादातर स्टार प्रचारक नहीं पहुंचे। भाजपा प्रत्याशियों को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, किरोड़ी लाल मीणा, अर्जुन मेघवाल सरीखे दिग्गजों का प्रचार में पहुंचने का इंतजार रहा। हालांकि सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने इस कमी को पूरा करने का प्रयास किया है। अब प्रचार थम चुका है, ऐसे में इन क्षेत्रों में रहने वाले दिग्गजों की प्रतिष्ठा दाव पर है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद डोटासरा, स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा, खेलमंत्री अशोक चांदना, ममता भूपेश, भंवर सिंह भाटी सरीखे नेता इन सीटों पर सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। वहीं भाजपा में राजसमंद सीट की बात की जाए तो यहां नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और सांसद दीया कुमारी ने पूरा दमखम लगा रखा है। हालांकि कटारिया के महाराणा प्रताप के लेकर दिए गए बयान के चलते भाजपा को नुकसान होने की आशंका है, लेकिन कटारिया जिस वर्ग से आते हैं, उस वर्ग का राजसमंद में बोलबाला है, ऐसे में उनकी जीत में महती भूमिका रहेगी। इसी तरह सांसद दीया कुमारी के सांसद होने के नाते यह चुनाव प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है।

सहाड़ा सीट पर पूनियां सक्रिय

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष होने के नाते सतीश पूनियां की तीनों ही सीटों पर साख दाव पर है। मगर उनका ज्यादा फोकस सहाड़ा सीट पर दिख रहा है। यही वजह है कि प्रचार के आखिरी दिन गुरुवार को वो सहाड़ा में ही रहे। इस सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला बना हुआ है। भाजपा और कांग्रेस के सामने आरएलपी ने चुनौती खड़ी की हुई है। हालांकि लादुलाल पितलिया के नामांकन वापस लेने के बाद भाजपा की स्थिति मजबूत बनी थी, लेकिन फिलहाल कौन जीतेगा, यह बताना मुश्किल है।

सुजानगढ़ में राठौड़ सक्रिय

उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने सुजानगढ़ में दमखम लगा रखा है। सुजानगढ़ सीट उनके जिले चूरू में आती है, इस वजह से उन पर प्रत्याशी को जिताने का बड़ा दारोमदार है। इसके अलावा सांसद सुभाष बहेड़िया भी चुनाव में सक्रिय नजर आ रहे हैं। कुछ स्थानीय नेता भी यहां पूरे चुनाव में सक्रिय नजर आए।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned