उप चुनाव में चला सहानुभूति कार्ड, ना भाजपा ने कुछ खोया और ना कांग्रेस ने कुछ पाया

प्रदेश की तीन सीटों पर हुए उप चुनाव के नतीजे सामने आ गए हैं। सहाड़ा और सुजानगढ़ में जहां कांग्रेस को जीत मिली है, वहीं राजसमंद में भाजपा ने जीत दर्ज की है। कुल मिलाकर इन सीटों पर हुए उप चुनाव में ना भाजपा ने कुछ खोया और ना ही कांग्रेस ने कुछ अतिरिक्त पाया।

By: Umesh Sharma

Updated: 02 May 2021, 06:45 PM IST

जयपुर।

प्रदेश की तीन सीटों पर हुए उप चुनाव के नतीजे सामने आ गए हैं। सहाड़ा और सुजानगढ़ में जहां कांग्रेस को जीत मिली है, वहीं राजसमंद में भाजपा ने जीत दर्ज की है। कुल मिलाकर इन सीटों पर हुए उप चुनाव में ना भाजपा ने कुछ खोया और ना ही कांग्रेस ने कुछ अतिरिक्त पाया। 2018 के विधानसभा चुनाव की तरह ही कांग्रेस अपनी दोनों सीट बचाने में कामयाब रही तो भाजपा ने भी राजसमंद सीट पर जीत को बरकरार रखा।

चुनाव परिणामों पर नजर डाली जाए तो दोनों ही पार्टियों का सहानुभूति कार्ड चला है। सहाड़ा से दिवंगत विधायक कैलाश त्रिवेदी की पत्नी गायत्री देवी, सुजानगढ़ से दिवंगत विधायक मास्टर भंवर लाल के बेटे मनोज मेघवाल और राजसमंद से दिवंगत विधायक किरन माहेश्वरी की बेटी दीप्ति माहेश्वरी ने जीत दर्ज की है। हालांकि राजस्थान की सियासत में पहली बार ऐसा हुआ है, जब सहानुभूति की लहर में ये तीनों प्रत्याशी जीते हैं। इससे पहले 19 उपचुनाव में 8 बार कांग्रेस, 8 बार भाजपा, दो बार जनता पार्टी और एक बार एनसीजे ने चुनाव जीता। लेकिन दिवंगत विधायकों के परिजनों को जनता ने नकारा है।

यूं हुई परिजनों की हार

—1965 में राजाखेड़ा विधायक प्रताप सिंह की मृत्यु के बाद उनके बेटे एम सिंह को हार मिली
—1978 में रूपवास विधायक ताराचंद की मृत्यु के बाद उनके बेटे को हार मिली
—1988 में खेतड़ी विधायक मालाराम के निधन के बाद उनके बेटे एच लाल चुनाव हार गए
—1995 में बयाना विधायक बृजराज सिंह के निधन के बाद उनके बेटे शिव चरण सिंह को हार का सामना करना पड़ा
—1995 में बांसवाड़ा विधायक पूर्व मुख्यमंत्री हरदेव जोशी के निधन के बाद उनके बेटे दिनेश जोशी को हार मिली
—2000 लूणकरणसर विधायक भीमसेन की मृत्यु के बाद उनके बेटे वीरेंद्र को हार नसीब हुई
—2002 में सागवाड़ा विधायक भीखाभाई के निधन के बाद उनके बेटे सुरेंद्र कुमार चुनाव हार गए
—2005 में लूणी विधायक रामसिंह विश्नोई की मौत के बाद उनके बेटे मलखान विश्नोई को हार मिली

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned