राजस्थान: मिशन ‘उपचुनाव फतह’ पर BJP, खोने के लिए एक- पाने के लिए 4 सीटें, जानें क्या हो रही कवायद

प्रदेश की 4 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव मामला, चुनाव कार्यक्रम घोषित होने का बेसब्री से हो रहा इंतज़ार, सुजानगढ़ दौरे में पूनिया ने किया चुनावी अभियान का शंखनाद, अब 22 को राजसमंद, 23 को सहाड़ा में रहेगा प्रदेशाध्यक्ष का प्रवास, चारों सीटें जीतने में पूरा दमखम लगा रही पार्टी


By: nakul

Updated: 20 Jan 2021, 03:38 PM IST

जयपुर।

प्रदेश में उपचुनावों को लेकर भले ही चुनाव कार्यक्रमों का इंतज़ार हो रहा हो, लेकिन भाजपा ने चुनावी क्षेत्रों में अपने पक्ष में माहौल बनाना का काम अभी से ही तेज़ कर दिया है। ‘मिशन उपचुनाव’ फतह में भाजपा की तैयारियों का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया खुद उपचुनाव क्षेत्रों के दौरे पर निकल पड़े हैं। मंगलवार को जहां पूनिया सुजानगढ़ दौरे पर रहे तो वहीं अब उनके शेष रही सीटों पर भी प्रवास कार्यक्रम जारी किये गए हैं।


राजसमंद-सहाड़ा का प्रवास कार्यक्रम भी जारी
सुजानगढ़ के बाद अब भाजपा स्टेट चीफ पूनिया शेष रहे उपचुनाव क्षेत्रों में जायेंगे और वहां के कार्यकर्ताओं को रिचार्ज करेंगे। पार्टी मुख्यालय ने बुधवार को पूनिया का तीन दिवसीय प्रवास कार्यक्रम जारी किया। इसके तहत वे 22 जनवरी को राजसमन्द जबकि 23 जनवरी को भीलवाड़ा के सहाड़ा के कार्यकर्ताओं में जोश का संचार करेंगे। बताया जा रहा है कि जल्द ही उनका उदयपुर के वल्लभनगर प्रवास का भी कार्यक्रम बन सकता है।


निकायों में बढ़त के साथ उपचुनाव पर फोकस
20 जिलों की 50 निकायों में जहां सियासी समर छिड़ा हुआ है, तो वहीं चार विधानसभा सीटों पर उपचुनाव का भी माहौल बनने लगा है। इधर, विपक्ष में बैठी भाजपा निकायों में तो बढ़त हासिल करने में जुटी ही हुई है, पर उसका खासा फोकस उपचुनाव पर टिका हुआ है। साफ़ है कि भाजपा उपचुनाव की चारों सीटें जीतकर सियासी गणित को बदलने की चाह भी रख रही है।


खोने के लिए एक, पाने के लिए चार सीट
चुनाव कार्यक्रम घोषित होने से पहले ही उपचुनाव को लेकर भाजपा की जोर-शोर से दिख रही कसरत से साफ़ है, कि भाजपा मौके को पूरी तरह से भुनाने के मूड में है। दरअसल, उपचुनाव की चार में से तीन सीटें चूरु की सुजानगढ़, भीलवाड़ा की सहाड़ा और उदयपुर की वल्लभनगर सीटें कांग्रेस के पास थीं, तो वहीं राजसमंद की एकमात्र सीट भाजपा के कब्ज़े में थी। ऐसे में भाजपा के पास खोने के लिए महज़ एक सीट, जबकि पाने के लिए चार सीटों का अवसर है।

इसी मंशा के साथ प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के मंगलवार को सुजानगढ़ दौरे के साथ ही ‘मिशन उपचुनाव’ का शंखनाद हो गया। इस दौरान कार्यकर्ताओं से 2023 में प्रचंड बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बनाने में जुटने का आह्वान किया गया।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned