कोविड सेंटर पर अव्यवस्थाएं देख बिफरे केन्द्रीय मंत्री, अधिकारियों के जूते मारने व नरक में जाने को कहा, देखें वीडियो

नाकोड़ा व असाडा सरहद में स्थित कोविड सेंटरों का केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने किया दौरान, अव्यवस्था देख हुए आग—बबूला, विकास अधिकारी को लगाई फटकार

By: pushpendra shekhawat

Published: 07 Jul 2020, 12:53 AM IST

पचपदरा/जसोल(बाड़मेर). नाकोड़ा व असाडा सरहद में स्थित कोविड सेंटरों के निरीक्षण के दौरान वहां व्याप्त अव्यवस्थाओं को लेकर सोमवार दोपहर को केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी अधिकारियों पर आग बबूला हो उठे। उन्होंने वहां मौजूद अधिकारियों को व्यवस्थाओं व सुविधाओं में सुधार नहीं होने पर जूते मारने व मरने के बाद नरक में जाने तक की बात बोल डाली। केन्द्रीय राज्यमंत्री के इस बात को बोलते ही वहां उपस्थित अधिकारी व लोग सकते में आ गए।

दरअसल दिल्ली से तीन दिन के संसदीय क्षेत्र के दौरे पर पहुंचे केन्द्रीय राज्यमंत्री ने कोविड सेंटरों का अचानक निरीक्षण करने के लिए पहुंच गए। जैसे ही मंत्री सेंटर पर पहुंचे तो वहां मौजूद कोरोना पॉजिटिव मरीजों ने व्याप्त अव्यवस्थाओं व समस्याओं को मंत्री के सामने राी। लोगों के समस्याएं बताते ही मंत्री आग बबूला होकर अधिकारियों पर बरस पड़े और अधिकारी सामने शर्म से सिर झुकाए खड़े रहे।

मरीजों ने ये रखी समस्याएं
मरीजों ने सेंटर में समय पर गुणवत्तापूर्ण चाय-नाश्ता व भोजन नहीं देने, नियमित साफ- सफाई नहीं होने, पीने व नहाने को लेकर पानी समय पर उपलब्ध नहीं होने की शिकायत की।

नगर परिषद एसआइ को लगाई फटकार
असाडा रोड स्थित कोविड केयर सेंटर पर मरीजों की ओर से बिगड़ी साफ सफाई व्यवस्था से अवगत करवने पर नाराज मंत्री ने नगर परिषद के सफाई निरीक्षक को कड़ी फटकार लगाते हुए सुधार के सत निर्देश दिए। उपखंड अधिकारी रोहित कुमार को कहा यह सही नहीं है।

खामियां सुधारने का प्रयास करेंगे
केन्द्रीय मंत्री ने निरीक्षण के दौरान जुते मारने व तब्लीगी जमात से होने की बात कही, जो सही नहीं है। मंत्री को पद की गरिमा का ध्यान राना चाहिए। खामियां है तो हम सुधारने का प्रयास करेंगे, लेकिन जाति-धर्म के बारे में बोलना उचित नहीं है। उच्चाधिकारियों के सामने ये बाते राूंगा।

- फिरोजखां, विकास अधिकारी पंचायत समिति बालोतरा

कार्रवाई होनी चाहिए
जनप्रतिनिधि का फर्ज है जनता की सेवा करें। सेवा की जगह दिखावा करना जायज नही है। अधिकारी दोषी है तो उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए, लेकिन झूठी वाहवाही बटोरने के लिए वीडियो वायरल करना उचित नहीं है। धार्मिक टिप्पणी करना तो इनका एजेंडा है।
- मदन प्रजापत, विधायक कांग्रेस

कोविड सेंटरों का निरीक्षण किया, वहां पर मरीजों को भोजन, पानी व सफाई की व्यवस्थाएं संतोषजनक नहीं थी, जो चिंताजनक है। प्रदेश सरकार कोविड फंड में भ्रष्टाचार कर रही है। लोगों को संक्रमित करने के लिए झूठे दावे कर रही है।
- कैलाश चौधरी, केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned