सफाई में अव्वल आने के लिए डूंगरपुर-इंदौर से सीख लेने का आह्वान

ग्रेटर नगर निगम ने शुरू की स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की तैयारियां
घर-घर संग्रहण, सेग्रीगेशन पर पूरा फोकस

By: Amit Pareek

Published: 28 Nov 2020, 12:27 AM IST

जयपुर. ग्रेटर नगर निगम ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की तैयारियां शुरू कर दी है। इसी के तहत निगम मुख्यालय में स्वच्छ भारत मिशन, राजस्थान के ब्रांड एंबेसडर केके गुप्ता ने शहर को स्वच्छता में अव्वल लाने के गुर बताए। उन्होंने कहा कि सबसे पहले डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण व्यवस्था को शत प्रतिशत घरों में लागू करना होगा। साथ ही सेग्रीगेशन (गीला-सूखा कचरा) व्यवस्था को भी चालू करना जरूरी है। उन्होंने डूंगरपुर नगर परिषद का उदाहरण देकर समझाया कि इसी व्यवस्था को लागू कर डूंगरपुर को स्वच्छ और अनुकरणीय डूंगरपुर बनाया गया है।
इस दौरान महापौर सौम्या गुर्जर ने कहा कि इंदौर और डूंगरपुर से सीख लेकर हमें आगे बढऩा होगा। सभी पूरी ईमानदारी के साथ एकजुट काम करेंगे तो ग्रेटर नगर निगम सफाई में अव्वल बनेगा।

ये अपनाएंगे तो टॉप पर आएंगे
-सफाई के लिए निगम क्षेत्र को कई भागों में विभाजित कर प्रत्येक भाग पर एक प्रभारी नियुक्त किया जाए। प्रभारी को वह क्षेत्र गोद दे दिया जाए।
-सार्वजनिक शौचालय, मूत्रालय, मोक्षधाम और कचरा डिपो को साफ-सुथरा बनाना होगा।
-जनचेतना के लिए सबसे पहले बच्चों को सफाई अभियान से जोडऩे के लिए नवाचार करें।
-प्लास्टिक की थैलियों पर प्रतिबंध लगाया जाए। कपड़े और जूट के थैलों को बढ़ावा दिया जाए।

Amit Pareek Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned