सोशल मीडिया पर अभियान ने ब्रिटेन में बढ़ाए 63,739 मतदाता

अक्सर चुनावों में सोशल मीडिया का इस्तेमाल नेताओं का चेहरा चमकाते हुए देखा गया है, लेकिन ब्रिटेन में इसका इस्तेमाल युवाओं को मतदान करने के लिए प्रेरित करने में किया गया है, जिसका सकारात्मक असर 12 दिसंबर को प्रधानमंत्री चुनाव में भी देखने को मिलेगा।

By: dhirya

Published: 08 Dec 2019, 12:29 AM IST

लंदन. अक्सर चुनावों में सोशल मीडिया का इस्तेमाल नेताओं का चेहरा चमकाते हुए देखा गया है, लेकिन ब्रिटेन में इसका इस्तेमाल युवाओं को मतदान करने के लिए प्रेरित करने में किया गया है, जिसका सकारात्मक असर 12 दिसंबर को प्रधानमंत्री चुनाव में भी देखने को मिलेगा।
चुनाव आयोग के अभियानों के प्रमुख टिम क्राउले ने बताया, हमने स्नैपचैट के साथ एक अभियान चलाया, जिसमें 25 साल से कम उम्र के युवा बड़ी संख्या में शामिल हुए। युवाओं में चुनाव को लेकर काफी कम रुझान को देखते हुए सोशल मैसेजिंग ऐप स्नैपचैट ने देश में अपने सभी उपयोगकर्ताओं को चुनाव से जोडऩे के लिए यूथक्वेक अभियान चलाया।
इसके तहत टीम स्नैपचैट की ओर से 12 नवंबर को अपने उपयोगकर्ताओं को संदेश भेजा। 26 नवंबर को पंजीयन के आखिरी दिन तक 63,739 युवा इस अभियान से जुड़कर अपना पंजीयन करवाया और मतदान करने का वादा किया।
चुनाव के दिन यूजर्स जब मतदान स्थल पर जाकर वोट करेंगे तो वे जियोटैगिंग के जरिए एक विशेष प्रकार की बिटमोजी या कॉनफेटी को अपने सोशल मीडिया में शेयर कर सेलीब्रेट कर सकेगा। जियोटैगिंग से पता चल सकेगा कि वह वाकई घर से निकलकर अपने मतदान केंद्र तक गया था। 2017 के चुनाव में 18-19 साल के 57 प्रतिशत और 20-24 साल के 59 प्रतिशत युवाओं ने ही मतदान में भाग लिया था। ब्रिटेन में फेसबुक और ट्विटर की अपेक्षा स्नैपचैट की पहुंच 13-24 वर्ष के युवाओं में 80 प्रतिशत तक है। इसलिए इस अभियान को आगे बढ़ाने के लिए स्पचैट को आगे किया गया।

dhirya Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned