कैंसर रोग की आशंका को कम करेगी लौंग

लौंग में एंटी ऑक्सीडेंट्स की मात्रा ज्यादा होती है जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को दूर करने में मदद करते हैं।

By: Amit Purohit

Published: 19 Mar 2020, 02:50 PM IST

पोषक तत्वों से भरपूर -लौंग में फाइबर, विटामिंस और मिनरल्स होते हैं। यदि कैलोरी की बात करें तो दो ग्राम लौंग में मात्र ६ कैलोरी होती है। इसके अलावा एक ग्राम काब्र्स और एक ग्राम फाइबर होता है। दो ग्राम लौंग से आप रोजाना के लिए आवश्यक मैग्नीशियम की 55 फीसदी की पूर्ति कर सकते हैं। लौंग विटामिन के भी होता है।

हाई एंटी ऑक्सीडेंट्स - लौंग में एंटी ऑक्सीडेंट्स की मात्रा ज्यादा होती हैं। ये एंटी ऑक्सीडेंट्स ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने के साथ ही क्रॉनिक डिजीज का रिस्क घटाते हैं। प्रयोगशाला अध्ययन से भी सामने आया कि लौंग में पाए जाने वाले एंटी ऑक्सीडेंट्स फ्री रेडिकल्स की वजह से होने वाले ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाते हैं।

कैंसर से बचाएगी लौंग - कुछ अध्ययनों से सामने आया कि लौंग में कैंसर से रक्षा करने की क्षमता होती है। एक प्रयोगशाला अध्ययन से सामने आया कि क्लोव एक्सट्रेक्ट ट्यूमर की ग्रोथ को रोकने का काम करता है। साथ ही कैंसर सेल्स को मारने का काम भी करता है। एक अन्य अध्ययन से सामने आया कि लौंग की एंटी कैंसर प्रॉपर्टीज लिवर को कैंसर से प्रोटेक्ट करने का काम करती है।

बैक्टीरिया को मारने में सक्षम - लौंग की एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज कई तरह की बैक्टीरियल डिजीज से बचाने का काम करती है। इसके अलावा यदि आपको फूड पॉइजनिंग की समस्या हो गई है तो ऐसे में लौंग का सेवन करने से आराम मिलेगा। क्लोव एक्सट्रेक्ट मसूड़ों में भी बैक्टीरिया के निर्माण को रोकने का काम करता है।

लिवर हेल्थ होगी इंप्रूव - टी लिवर डिजीज की आशंका को कम करने के लिए लौंग का सेवन करना लाभकारी होता है। लौंग लिवर के फंक्शन को इंप्रूव करने के साथ ही इंफ्लेमेशन और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को दूर करने का काम करता है। इतना ही नहीं, लौंग के सेवन से ब्लड शुगर को भी नियमित किया जा सकता है। लौंग इंसुलिन हार्मोन का स्त्राव करने वाली कोशिकाओं के कार्य में सुधार करती है।

Amit Purohit Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned