उपचुनाव के लिए तेज हुई प्रत्याशी चयन की कवायद, 29 मार्च को आ सकती है कांग्रेस की सूची

-कांग्रेस और भाजपा दोनों ही जूझ रहे गुटबाजी से, 30 मार्च है उपचुनाव में नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख

By: firoz shaifi

Published: 17 Mar 2021, 11:27 AM IST

जयपुर। प्रदेश की 4 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग ने 3 सीटों पर चुनाव तारीखों की घोषणा कर दी है। उपचुनाव वाली एक सीट वल्लभनगर की तारीखों की घोषणा फिलहाल अटक गई है। चुनाव तारीखों की घोषणा के साथ ही भाजपा-कांग्रेस में प्रत्याशी चयन की कवायद तेज हो गई है।

हालांकि दोनों ही दल पिछले डेढ़ माह से लगातार प्रत्याशी चयन की कवायद में जुटे हुए थे और पर्यवेक्षकों और प्रभारियों के जरिए जनता और कार्यकर्ताओं की नब्ज टटोलने का काम कर रहे थे। चुनाव तारीखों की घोषणा होने के बाद अब दोनों ही दल पूरी मुस्तैदी के साथ प्रत्याशी चयन की कवायद में जुट गए हैं।

29 मार्च तक आएगी कांग्रेस की सूची
पार्टी के विश्वस्त सूत्रों की माने तो 3 सीटों राजसमंद, सहाड़ा और सुजानगढ़ के प्रत्याशियों की सूची 29 मार्च तक जारी हो सकती है। पार्टी नेताओं ने भी इसके संकेत दिए हैं। 30 मार्च नामांकन की आखिरी तारीख है ऐसे में कहा जा रहा है कि 29 मार्च को प्रत्याशी की घोषणा हो सकती है।

बताया जाता है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रदेश प्रभारी अजय माकन और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा से चर्चा कर फीडबैक बैठकों के दौरान आए नामों पर विचार कर एआईसीसी को भेजेंगे, चर्चा है कि नामों पर मंथन के बाद मुख्यमंत्री नामों को लेकर जल्द ही दिल्ली भी जा सकते हैं। उसके बाद सूची पर एआईसीसी की मुहर लग कर प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जाएगी।

शाम को हो सकती है बैठक
सूत्रों की माने तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज शाम को अपने निवास पर पीसीसी चीफ गोविंद डोटासरा और सुजानगढ़, सहाड़ा, और राजसमंद के लिए नियुक्त किए गए पर्यवेक्षकों के साथ बैठक कर सकते हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को भी अपने निवास पर राजसमंदके कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ नामों को लेकर मंथन किया था।

दोनों ही दल जूझ रहे हैं गुटबाजी से
वहीं उपचुनाव के बीच ही भाजपा और कांग्रेस में गुटबाजी चरम पर है। हाल ही में सचिन पायलट के कैंप के विधायकों की नाराजगी खुलकर सामने आई थी तो वहीं भाजपा में भी पूनिया और वसुंधरा खेमे के बीच तकरार बड़ी हुई है। उपचुनावों के दौरान दोनों दलों के लिए गुटबाजी से पार पाना बड़ी चुनौती होगा।

कांग्रेस के लिए साख का सवाल
इधर प्रदेश के चार सीटों पर होने वाले उपचुनाव कांग्रेस के लिए साख का सवाल बने हुए हैं। हालांकि 3 ही सीटों पर ही चुनाव तारीख की घोषणा हुई है। 4 में से 3 सीटें वल्लभनगर सहाड़ा और सुजानगढ़ पर कांग्रेस का कब्जा था। ऐसे में कांग्रेस तीनों सीटों पर फिर से अपना कब्जा चाहती है जिसके लिए सत्ता और संगठन ने पूरी ताकत झोंक रखी है।

वहीं भाजपा 3 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में जीत कर कांग्रेस सरकार पर राजनीतिक दबाव बनाना चाहेगी। गौरतलब है कि प्रदेश में 4 सीटों पर उपचुनाव होने हैं लेकिन चुनाव आयोग ने 3 सीटों पर तारीख की घोषणा की है। 3 सीटों सहाड़ा, राजसमंद और डूंगरपुर पर 23 मार्च नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 30 मार्च को नामांकन की आखिरी तारीख है, तीनों सीटों पर 17 अप्रैल को मतदान होगा और 2 मई को मतगणना और परिणाम जारी होंगे।

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned