उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के लिए इंसाफ की मांग को लेकर शहरवासियो ने निकाला कैंडल मार्च

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के लिए इंसाफ की मांग को लेकर शहरवासियो ने निकाला कैंडल मार्च

Priyanka Yadav | Publish: Apr, 17 2018 02:32:18 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

जाति-धर्म-वर्ग का भेद छोड़ इंसाफ के लिए इंसानियत की मशाल जलाई

जयपुर . कठुआ और उन्नाव में दुष्कर्म पीडि़तों को इंसाफ मिलने में हो रही देरी के विरोध में रविवार को परकोटा के विभिन्न क्षेत्रों में युवाओं और महिलाओं ने कैंडल मार्च निकालकर इंसाफ दिलाने और दोषियों को सख्त सजा देने की मांग की। हाथ में कैंडल थामे लोग भले ही मौन धारण किए थे लेकिन उनके भीतर जल रही आग उनकी आंखों में स्पष्ट नजर आ रही थी। न्याय व्यवस्था की नाकामी, पुलिस की कारगुजारी और दोनों मामलों में हो रही राजनीति से आहत महिलाओं और युवाओं ने इसे सिस्टम का फेल्योर बताते हुए कहा कि तमाम दावों और सख्ती के बावजूद निर्भया कांड के बाद भी मासूमों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ रही हैं। लेकिन किसी की संवेदना उसे नहीं कचोट रही। पार्टियां राजनीति कर रही हैं और पुलिस दोषियों का बचाव।

 

आसिफा के लिए जुटे हजारों

 

दुष्कर्मियों को फांसी की सज़ा दिलाने के लिए आमेर के गांधी चौक, रामनिवास बाग स्थित अल्बर्ट हॉल और अमर जवान ज्योति पर कैंडल मार्च किया गया। एक हजार से ज्यादा लोग शरीक हुए। सभी ने एक स्वर में उन्नाव-कठुआ और सूरत में हुए जघन्य अपराधों के लिए दोषियों को फांसी की सज़ा की मांग की और फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन कर छह महीने में दोषियों को सज़ा देने, पूरे मामले को हिंदू-मुस्लिम रंग देने की कोशिश कर रहे राज नेताओ की जमकर भत्सर्ना की गई। वक्ताओ ने हिंदू मुस्लिम एकता पर ज़ोर दिया।

 

युवाओं ने निकाला कैंडल मार्च

 

आमेर वहीं आमेर में युवाओं ने महिलाओं और बच्चियों पर हो रहे अत्याचार और कठुआ एवं उन्नाव दुष्कर्म पीडि़ताओं के लिए इंसाफ की मांग करते हुए शांति पूर्ण कैंडल मार्च निकाला। इस अवसर पर दो मिनट का मौन धारण कर शांति की प्रार्थना की गई। युवाओं का कहना था कि इस प्रकार की सभी घटनाओं पर विराम लगना चाहिए और दोषियों को जल्द से जल्द सजा मिलनी चाहिए। इसी क्रम में अल्बर्ट हॉल पर भी शाम पौने आठ बजे कैंडल मार्च कर आसिफा को इंसाफ दिलाने के लिए आवाज बुलंद की गई। इस में बड़ी संख्या में महिलाएं, बुजुर्ग, युवा और रंगकर्मी शामिल हुए। सभी ने एक स्वर में दोषियों को सख्त सजा दिलाने, पीडि़त परिवार को मुआवजा देने और मामले में राजनीति कर रहे लोगों पर कार्रवाई करने की मांग की।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned