एटीएम तोड़ने वाले कैमरे में कैद, फिर भी पकड़ से दूर

जयपुर.एटीएम तोड़ने वाले बदमाश सीसीटीवी कैमरे में कैद ( Capture in ATM break camera) हो गए, फिर भी पुलिस की पकड़ से दूर है।

By: vinod sharma

Published: 22 Jun 2020, 01:33 PM IST

जयपुर.एटीएम तोड़ने वाले बदमाश सीसीटीवी कैमरे में कैद ( Capture in ATM break camera) हो गए, फिर भी पुलिस की पकड़ से दूर है। मुहाना थाना क्षेत्र के एटीएम में हुई वारदात से पहले एक सप्ताह के दौरान प्रदेश भर में चार स्थानों पर एटीएम तोड़ने की कोशिश की गई। एटीएम में सीसीटीवी कैमरा लगा होता है। जिनमें बदमाश कैद भी हो गए। लेकिन पुलिस आरोपियों की गिरफ्तार नहीं कर पाई। विधाधरनगर थाने इलाके में नकाबपोश बदमाश दरवाजे को तोड़कर अंदर घुसे, जिसकी समूची गतिविधि सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हुई। बैंक प्रबंधन ने सीसीटीवी कैमरों को पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेजों को जब्त कर नकाबपोश बदमाश की पहचान करने की बात कही। बैंक प्रबंधन को उम्मीद थी कि सीसीटीवी कैमरे में सभी सबूत मौजूद है, जिससे पुलिस को नकाबपोश की पहचान करने में परेशानी नहीं होगी। लेकिन पुलिस आरोपियों की पहचान नहीं कर पाई। अनुसंधान अधिकारी मदन सिंह ने बताया कि सीसीटीवी फुटेजों की जांच करने वाले एक्सपर्टस की मदद ली जा रही है। उन्होंने बताया कि बदमाश ने नकाब पहन कर चेहरा छुपाया हुआ है। जिससे उसकी पहचान में परेशानी हो रही है।


ये हो सकता है तरीके
सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस राजस्थान के सभी थानों से एटीएम लूटने व लूटने का प्रयास करने वालों की जानकारी संकलित कर सकती है। इसके बाद फुटेजों की मिलान कराई जानी चाहिए। मिलान होने के बाद पता चल सकता है कि उक्त बदमाश ने कितने थाना क्षेत्रों में वारदात को अंजाम दिया। उसकी जानकारी कर पुलिस पूछताछ कर सकती है। इसके अलावा अधिकतर थानों में बदमाशों के फोटो सहित पूरी जानकारी है। बदमाशों के हुलिया के आधार पर उनकी पहचान कराई जा सकती है। लेकिन पुलिस जांच को आगे नहीं बढ़ा पाती है। इस कारण सीसीटवी फुटेज में बदमाशों के कैद होने के बाद भी अधिकतर मामलों का खुलासा नहीं हो पाता है।

इनकी वारदात भी फुटेज में दर्ज
लॉक डाउन खुलने के बाद नकाब पोश बदमाशों ने प्रतापगढ़, जालौर व भरतपुर में एटीएम तोड़ने का प्रयास किया। भरतपुर जिले के भुसावर कस्बे में दो दिन पहले ही नकाबपोश बदमाशों ने एटीएम को तोड़ दिया। लेकिन वहां पर गश्त कर रही पुलिस की वजह से एटीएम को ले जाने में सफल नहीं हुए। इसके अलावा प्रतापगढ़ व जालौर में भी एटीएम में लगे कैमरा, एलईडी स्क्रीन को तोड दिया पर एटीएम के कैश बॉक्स का लॉक नहीं टूटा। जिससे एटीएम को ले जाने में सफल नहीं सके। ये वारदात एटीएम में कैद हो गई। जिनमें नकाबपोश बदमाश नजर आ रहे हैं पर पुलिस की पकड़ से दूर है।

vinod sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

अगली कहानी
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned