सीबीएसई की चेयरपर्सन ने पेरेंट्स को लिखा पत्र

12 बिन्दुओं की दी जानकारी, कई महत्वपूर्ण जानकारियां हैं पत्र में, परीक्षा से संबंधित हैं जानकारी

जयपुर। सीबीएसई की चेयरपर्सन अनीता करवल ने बोर्ड परीक्षाओं से पहले पेरेंट्स के नाम एक पत्र लिखा है। इस पत्र को हरेक उस पेरेंट्स को पढ़ना चाहिए, जिनके बच्चे बोर्ड परीक्षा या अन्य कोई परीक्षा दे रहे हैं। इन दिनों बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियां जोरों से चल रही हैं। बच्चे ही नहीं उनके पेरेंट्स भी अभी तनाव में हैं। बोर्ड परीक्षा में नंबरों की दौड़ में भाग रहे विद्यार्थी और उनके पेरेंट्स के नाम सीबीएसई बोर्ड की चेयरपर्सन ने एक पत्र लिखा है।

ये है पत्र में
डियर पेरेंट्स इन दिनों टीवी पर एक ऐड चल रहा है, जिसमें एक पिता अपनी कार में अपनी स्कूल गोइंग बेटी को लेकर जा रहा है। बेटी कुछ परेशान है और उसके मन में परीक्षा को लेकर उथल पुथल चल रही है। बेटी को लगता है कि उसकी परीक्षाएं अच्छी नहीं हुईं और वह अपने पिता की उम्मीदों पर खरी नहीं उतरी। लेकिन यहां पिता को ये बुरा लगता है, उसे लगता है कि उसने अपनी बेटी को इस तरह की कठिनाइयों से निपटने के लिए मजबूत नहीं बनाया है जो उसके जीवन में अचानक और बिना संकेत के उत्पन्न हो सकती हैं। ये एक बड़ा पावरफुल मैसेज है। इस विज्ञापन के जरिए पेरेन्टस को भी एक मैसेज दिया गया है।

पेरेंट्स के लिए कुछ खास बातें
एक दिन पहले अपने बच्चे के साथ परीक्षा केन्द्र को जरूर देखकर आएं। परीक्षा केंद्र पहुंचने के लिए एग्जाम सेंटर लोकेटर ऐप का उपयोग कर सकते हैं। परीक्षा के लिए बच्चे को स्कूल यूनिफार्म में आईडी कार्ड के साथ भेजें। बच्चा परीक्षा केंद्र पर सुबह 9.45 बजे तक और परीक्षा में सुबह 10 बजे से पहले पहुंच जाए। परीक्षा केंद्र में प्रवेश सुबह 10 बजे के बाद अनुमति नहीं है। बच्चे को परीक्षा केन्द्र पर छोड़ने के लिए यह पहले ही तय कर लें की उसे कितनी देर पहले घर से निकलना है। इसके लिए परीक्षा केंद्र की दूरी, यातायात, शहर में वीआईपी दौरे, मौसम की स्थिति आदि को ध्यान में रखें।

बच्चा परीक्षा के दिन पर्याप्त रूप से आराम करे और पौष्टिक भोजन ले। एडमिट कार्ड, स्कूल पहचान पत्र, पेन, पेंसिल, इरेजर, स्केल, शार्पनर आदि सभी को एक पारदर्शी पाउच में ले जाना चाहिए। यह ध्यान रखे कि आपका बच्चा मोबाइल, पर्स आदि तो परीक्षा केंद्र तो नहीं ले जा रहा है। बच्चे को इनवीजिलेटर द्वारा दिए गए सभी निर्देशों का पालन करने के लिए कहें। अपने बच्चे को रोल नंबर लिखने के बारे में भी बताएं। बच्चे को परीक्षा के दौरान अनुचित साधनों का प्रयोग नहीं करने के लिए जानकारी दें साथ ही उनके दुष्प्रभाव भी बताएं। बच्चे को ऐसा न करने का संकल्प भी दिलाएं। अपने बच्चे को समझाएं और अफवाहें फैलाने वाले किसी मैसेज या फर्जी वीडियो पर विश्वास न करने के लिए कहें। बच्चे को बताएं वह पूरी तरह अनुशासन में रहे। बच्चे को कोई बीमारी है तो उसकी भी जानकारी सीबीएसई को पहले ही दें।

MOHIT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned