राजस्थान भाजपा में बढ़ती गुटबाजी को लेकर केंद्रीय नेतृत्व बेहद नाराज

राजस्थान भाजपा में बढ़ती गुटबाजी को लेकर पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व बेहद नाराज है। पार्टी आलाकमान ने इस बारे में प्रदेश के बड़े नेताओं को पहले ही हिदायत दी है।

By: santosh

Published: 22 Feb 2021, 01:11 PM IST

अनुराग मिश्रा
जयपुर/नई दिल्ली। राजस्थान भाजपा में बढ़ती गुटबाजी को लेकर पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व बेहद नाराज है। पार्टी आलाकमान ने इस बारे में प्रदेश के बड़े नेताओं को पहले ही हिदायत दी है। राष्ट्रीय पदाधिकारियों के सम्मेलन में भी बड़े नेताओं ने पूनिया और राजे को इस बारे में इशारा किया।

राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा ने इस बारे में संगठन मंत्री चंद्रशेखर से लंबी बातचीत की और विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई। नड्डा ने प्रदेश के भाजपा के नेताओं को चेताया भी कि गुटबाजी बढ़ी, उपचुनाव या किसी अन्य स्तर पर नुकसान हुआ तो गंभीर परिणाम होंगे। उन्होंने इशारों ही इशारों में प्रदेश के नेताओं को आपस में बातचीत कर मामला शीघ्र सुलझाने का भी निर्देश दिया।

कोर कमेटी की बैठक बुलाने, मामला सुलझाने के निर्देश-
भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने 23 फरवरी को शाम 4 बजे जयपुर में कोर ग्रुप की बैठक में प्रदेश के पार्टी से जुड़े मामले सुलझाने के निर्देश दिए हैं। बैठक में विधानसभा उपचुनाव को लेकर चर्चा होगी और पर्यवेक्षक पैनल फाइनल कर संसदीय बोर्ड को भेजेंगे।

भाजपा की दिल्ली में हुई बैठक में राजस्थान से अपेक्षित सभी नेता शामिल हुए। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, राष्ट्रीय मंत्री अलका सिंह गुर्जर, प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर समेत अन्य नेता बैठक में मौजूद रहे। बैठक को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सम्बोधित किया। प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने प्रदेश भाजपा के कार्यों की रिपोर्ट प्रस्तुत की। इसमें प्रदेश में पार्टी की संरचना, सेवा कार्यों, पंचायतराज एवं निकाय चुनाव संबंधी जानकारी दी। आगामी कार्ययोजना भी बताई। बैठक में कोविड काल में प्रदेश भाजपा की ओर से किए गए कार्यों की प्रशंसा भी की गई।

पीएम से हुई राजे, पूनिया की मुलाकात-
बैठक के दौरान मोदी और राजे तथा चाय पर चर्चा के दौरान मोदी और पूनिया की मुलाकात भी हुई। बैठक में राष्ट्रीय पदाधिकारियों, सभी प्रदेशों के अध्यक्ष और संगठन महामंत्रियों को बुलाया गया था।

अलग से नहीं हुई कोई चर्चा-
दो दिन तक दिल्ली में चले बैठकों के दौर में प्रदेश के किसी भी नेता की बडे़ नेताओं से अलग से मुलाकात नहीं हुई। दिनभर बैठकों का दौर चला और सभी का आमना-सामना इन बैठकों में ही हुआ।

narend modi
Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned