यह कैसी सक्रियता, बिक्री रोकने के बजाय कर रहे कमाई

यह कैसी सक्रियता, बिक्री रोकने के बजाय कर रहे कमाई

Mridula Sharma | Publish: Sep, 06 2018 11:29:56 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

सिंधी कैंप बस स्टैंड का हाल: रोजाना कट रहे यात्रियों के चालान, परिसर में है धूम्रपान पर पाबंदी

जयपुर. केन्द्रीय बस स्टैंड सिंधी कैंप पर धूम्रपान पर पाबंदी को लेकर प्रशासन की अजीब सक्रियता दिखाई दे रही है। प्रशासन ने यात्रियों के धूम्रपान पर पाबंदी लगा रखी है, लेकिन इसकी बिक्री पर शिकंजा न कसकर यात्रियों से जुर्माना भी काट रहा है। यहां चालानों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। परिसर में 200 से अधिक दुकानें है। ऐसे में ज्यादातर पर धूम्रपान बिक रहा है। यात्री जैसे ही धूम्रपान खरीदते हैं, प्रशासन की टीम यात्री का 200 रुपए का चालान काट देती है। रोज 15—20 चालान काटे जा रहे हैं। यानी महीने में एक लाख रुपए तक के चालान काटे जा रहे हैं।

 

केस 01
परिसर स्थित प्लेटफॉर्म नंबर तीन पर एक दुकानदार से धूम्रपान के बारे में पूछा गया। दुकानदार ने अंदर बुलाकर हाथ में धूम्रपान सौंप दिया। बाहर जाने के दौरान दुकानदार बोला, बाहर चालान कट जाएगा। अंदर ही पीकर जाना।

केस 02
प्लेटफॉर्म नंबर एक से यात्री ने धूम्रपान खरीदा। बस में बैठने से पहले ही आगरा निवासी यात्री धूम्रपान करने लगा। मौके पर घूम रहा गार्ड यात्री को पकड़ ड्यूटी ऑफिसर के पास ले गया, जहां उसका 200 का चालान काटा गया। कारवाई के लिए कई बार आश्वासन तो दिया गया है, लेकिन स्थिति जस की तस है।

 

यह है हाल
सिंधी कैम्प बस स्टैण्ड से रोजाना 1300 बसों का संचालन किया जाता है। 200 बसें रोजाना यहां से अन्य राज्यों की संचालित की जा रही हैं। आंकड़ों की मानें तो करीब एक लाख लोग रोज सिंधी कैंप पर आवागमन करते हैं। इनमें 30 हजार लोग सफर करते हैं बस स्टैंड से और करीब 30 लाख रुपए की आमदनी होती है रोजाना। इस बारे में जब सिंधी कैम्प के मुख्य प्रबंधक कैलाश बड़ाया से बात की गई तो उन्होंने कहा कि धूम्रपान पर पिछले कुछ महीनों से सख्ती चल रही है। इसके बाद भी अगर दुकानों में बिक्री हो रही है, तो इन पर कार्रवाई की जाएगी। सभी दुकानों का औचक निरीक्षक किया जा जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned