राहतभरी खबर : एनएफएसए के लाभार्थियों को निःशुल्क मिलेगी एक किलो चना दाल

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत प्रदेश में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना ( National Food Security Scheme ) में चयनित राशन कार्डधारी पात्र परिवारों को अप्रेल, मई एवं जून माह में 1 किग्रा चना दाल का प्रति परिवार निःशुल्क वितरण किया जाएगा।

By: abdul bari

Updated: 18 Apr 2020, 08:21 PM IST

जयपुर
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत प्रदेश में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना ( National Food Security Scheme ) में चयनित राशन कार्डधारी पात्र परिवारों को अप्रेल, मई एवं जून माह में 1 किग्रा चना दाल का प्रति परिवार निःशुल्क वितरण किया जाएगा।


खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश चन्द मीना ( Minister Ramesh Chand Meena ) ने बताया कि प्रदेश में लगभग एक करोड़ 11 लाख 85 हजार 293 एनएफएसए राशन कार्डधारियों को उचित मूल्य की दुकानों से वितरण किया जाएगा। प्रदेश के एनएफएसए के लाभार्थियों को इन 3 महीनों के दौरान लगभग 33 हजार 555 मैट्रिक टन चना दाल का निःशुल्क वितरण किया जाएगा।


पॉस मशीन से किया जाएगा वितरण

खाद्य मंत्री ने बताया कि चना दाल का ऑनलाईन वितरण सप्लाई चैन मैनेजमेंट के अधीन पॉस मशीन के माध्यम से किया जाएगा। जिला मुख्यालय पर स्थापित गोदाम से परिवहनकर्ता के माध्यम से चना दाल पात्र परिवारों की संख्या के अनुसार प्रत्येक उचित मूल्य दुकानदार को आपूर्ति की जाएगी।


नेफेड उपलब्ध करवाएगा गुणवत्तायुक्त चना दाल

मीना ने बताया कि नेफेड की ओर से भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण से प्रमाणित गुणवत्तायुक्त चना दाल की आपूर्ति निगम को प्रत्येक जिला मुख्यालय पर उपलब्ध करवाई जाएगी। नेफेड की ओर से सभी जिला मुख्यालयों पर दाल आपूर्ति किए जाने के लिए मिलर्स को नियुक्त कर दिया गया है।

यह खबरें भी पढ़ें...

400 मास्क तैयार कर चुकी महिला निकली कोरोना पॉजिटिव, इलाके में लगाया कर्फ्यू, पुलिस ने जब्त किए मास्क

जरूरतमंद लोगों के लिए 25 लाख रुपए की वित्तीय स्वीकृति जारी, जानिए किस तरह होगी खर्च


पेट दर्द की शिकायत पर भर्ती हुआ युवक निकला कोरोना पॉजिटिव, हुई मौत तो अस्पताल ने शव निगम को सौंपा

Show More
abdul bari
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned