Chhath Puja 2020 : गलता तीर्थ में नहीं भरेगा छठ का मेला

सूर्य उपासना का महापर्व डाला छठ (Sun worship Mahaparva Chhath Puja 2020) बुधवार से शुरू होगा। राजधानी जयपुर में रह रहे बिहार समाज के लोग पहले दिन नहाय खाय करेंगे। इस बार कोरोना के चलते गलता तीर्थ (Galata Tirth) में छठ का मेला नहीं भरेगा। व्रती लोग घरों में ही कुंड बनाकर उसमें पानी भरेंगे और वहां खड़े होकर सूर्य भगवान को अघ्र्य अर्पित करेंगे।

By: Girraj Sharma

Published: 17 Nov 2020, 09:33 PM IST

गलता तीर्थ में नहीं भरेगा छठ का मेला
— सूर्य आराधना का पर्व डाला छठ कल से शुरू
— लोग घरों में ही कुंड बनाकर सूर्य भगवान को देंगे अघ्र्य

जयपुर। सूर्य उपासना का महापर्व डाला छठ (Sun worship Mahaparva Chhath Puja 2020) बुधवार से शुरू होगा। राजधानी जयपुर में रह रहे बिहार समाज के लोग पहले दिन नहाय खाय करेंगे। इस बार कोरोना के चलते गलता तीर्थ (Galata Tirth) में छठ का मेला नहीं भरेगा। व्रती लोग घरों में ही कुंड बनाकर उसमें पानी भरेंगे और वहां खड़े होकर सूर्य भगवान को अघ्र्य अर्पित करेंगे।

डाला छठ महोत्सव के पहले दिन लोग घरों में चावल, चने की दाल और लॉकी की सब्जी बनाएंगे और खाएंगे। महोत्सव के दूसरे दिन गुरुवार को खरना का व्रत शुरू होगा। लोग दिनभर उपवास करेंगे और शाम को गुड़ की खीर और रोटी बनाएंगे। गुड़ की खीर, रोटी, केले आदि का भगवान सूर्य को भोग लगाएंगे। इसके बाद उसे खाएंगे। इसके बाद 36 घंटे का निर्जल व निराहार व्रत शुरू होगा, जो शनिवार को उगते हुए सूर्य को अघ्र्य देने के साथ सम्पन्न होगा। इस बीच शुक्रवार को अस्त होते सूर्य को अघ्र्य अर्पित किया जाएगा। बिहार समाज संगठन के महासचिव सुरेश पंडित ने बताया कि व्रत करने वाले लोग घरों में ही कुंड बनाएंगे। कुंड में घुटनों तक पानी भरकर उसमें खडे होंगे और अस्त होते सूर्य अघ्र्य अर्पित करेंगे, वहीं दूसरे दिन शनिवार को उगते हुए सूर्य का अघ्र्य अर्पित करेंगे। इस बार गलता तीर्थ में मेला नहीं भरेगा।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned