मुख्यमंत्री गहलोत ने केन्द्र, भाजपा पर साधा निशाना

गणतंत्र दिवस (Republic Day ) के अवसर सचिवालय में मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Chief Minister Ashok Gehlot ) ने किसान आंदोलन पर कहा कि किसानों को ठंड के दौरान धरने देने पड़े, बैठना पड़ा, यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति रही है और यह देशहित में भी नहीं है।

By: Ashish

Published: 26 Jan 2021, 10:53 PM IST

जयपुर
गणतंत्र दिवस (Republic Day ) के अवसर सचिवालय में मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Chief Minister Ashok Gehlot ) ने किसान आंदोलन पर कहा कि किसानों को ठंड के दौरान धरने देने पड़े, बैठना पड़ा, यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति रही है और यह देशहित में भी नहीं है। गहलोत ने कहा कि अन्नदाता की बात सुनने, उनकी भावनाओं को समझने के लिए कोई तैयार ही नहीं। हम जय जवान जय किसान की बात करते हैं। जवान बॉर्डर पर देश की रक्षा कर रहा है और किसान को लंबे समय तक धरने पर बैठना पड़े तो ये उचित नहीं है। गहलोत ने कहा कि मांगे हर वर्ग रखता है, कोई रास्ता निकल सकता है। गहलोत ने केन्द्र पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्लियामेंट के अंदर विपक्ष की बात सुनी नहीं गई। इतना बड़ा अविश्वास पैदा हो गया है। गहलोत ने कहा कि फैसला बदलना, जनभावना देखकर फैसला बदलना कोई किसी की अवमानना नहीं है। गहलोत ने केन्द्र को घेरते हुए कहा कि अगर डेमोक्रेसी में विश्वास होता और अगर फासिस्टी प्रवृत्ति नहीं होती, अगर अहम् घमंड नहीं होता, तो मेरे ख्याल से ये नौबत नहीं आती।

संस्थाएं दवाब में कर रही हैं काम
गहलोत ने कहा मैं उनको मुबारकबाद दूंगा, बधाई दूंगा जिन्होंने शांति-सद्भाव के साथ में आन्दोलन किया है। गहलोत ने कहा कि देश में देखिए कैसी स्थिति आ गई है कि आज तमाम संस्थाएं ज्यूडीशियरी के ऊपर दबाव है। देश में सीबीआई-इनकम टैक्स-ईडी दबाव में काम कर रही है। सरकारें गिराने के लिए षड्यंत्र हो रहे हैं। कई राज्यों में सरकारें गिराईं लेकिन राजस्थान में इनकी चल नहीं पाई है। गहलोत ने कहा कि मीडिया आज इतने दबाव में है, जितना कभी नहीं रहा है। गहलोत ने कहा कि डेमोक्रेसी में जो असहमति व्यक्त करते हैं, उसका वेलकम होना चाहिए।

वैक्सीन पैरामीटर्स की तारीफ की
गहलोत ने कहा कि कोरोना काल में सारे पैरामीटर्स पर राजस्थान देशभर में ऐसा राज्य है जो कि खरा उतरा है। गहलोत ने कहा कि यूपीए सरकार के समय पेट्रोल के दाम जब 60-65 रुपए हो गए थे। अभी देश आर्थिक संकट से गुज़र रहा है, भयंकर आर्थिक संकट है, जीडीपी माइनस में जाने लग गई है। गहलोत ने कहा हालात बड़े गंभीर हैं, बेकारी-बेरोजगारी की समस्या इतनी बड़ी बढ़ गई है जिससे आज नौजवान भविष्य को लेकर चिंतित है।

जीएसटी हमारा हक
गहलोत ने कहा कि बजट सत्र की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। गहलोत ने केन्द्र पर निशाना साधते हुए कहा कि जीएसटी जो हमारा हक़ है, लिखित में वादा किया हुआ है, लेकिन वादा पूरा नहीं किया जा रहा है।

गुलाबचंद कटारिया के लिए कही यह बात
गहलोत ने कहा कि कटारिया की उम्र ऐसी हो गई है कि उनको इस्तीफा देना चाहिए। गहलोत ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी में इतनी फूट है राजस्थान में, ऐसी फूट आज तक मैंने बीजेपी में कभी नहीं देखी, जो इस वक्त देखी जा रही है। इनके पास कुछ कहने को है नहीं और ना ये विपक्ष की भूमिका निभा पा रहे हैं। ये भूमिका निभाने में ही असफल साबित हो रहे हैं।

BJP

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned