मॉडल और अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में सरकारी कार्मिकों के बच्चों को मिलेगी वरीयता

सरकारी स्कूलों ( government schools ) में सरकारी कर्मचारियों ( government personnel ) के बच्चों को दाखिला दिलवाने के लिए राज्य सरकार ने एक बड़ी पहल की है।

By: Ashish

Published: 07 Jul 2020, 02:44 PM IST

जयपुर

Education Minister Govind Singh Dotasara : सरकारी स्कूलों ( government schools ) में सरकारी कर्मचारियों ( government personnel ) के बच्चों को दाखिला दिलवाने के लिए राज्य सरकार ने एक बड़ी पहल की है। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ( Education Minister Govind Singh Dotasara ) ने ट्वीट करके इस गुड न्यूज़ की जानकारी साझा की। शिक्षा मंत्री ने कहा कि सरकारी स्कूलों के प्रति सरकारी कार्मिकों के मन में लगाव को बढ़ाने और उनके बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए सरकार ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। शिक्षामंत्री डोटासरा ने बताया कि राज्य के स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूल और अंग्रेजी माध्यम के सरकारी स्कूलों में सरकारी कार्मिकों के बच्चों को प्रवेश में वरीयता दी जाएगी।

स्कूल में सरकारी कार्मिकों के साथ ही सार्वजनिक उपक्रम और बोर्ड में कार्यरत कर्मचारियों के बच्चों को भी वरीयता दी जाएगी।गौरतलब है कि लंबे समय से यह मांग उठाई जाती रही है सरकारी कर्मचारी और अफसर अपने बच्चों को सरकारी स्कूल में पढ़ने भेजेंगे, तो इससे सरकारी स्कूल की छवि बेहतर होने के साथ ही शिक्षा की गुणवत्ता बेहतर हो सकती है। ऐसे में शिक्षा विभाग के इस कदम को काफी महत्वपूर्ण बताया जा रहा है। राजस्थान प्राथमिक माध्यमिक शिक्षक संघ ने शिक्षा विभाग के शिक्षा मंत्री का आभार जताया है। गौरतलब है कि राज्य में 134 स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूल संचालित हैं जबकि अंग्रेजी माध्यम की सरकारी स्कूलों की संख्या अब 200 हो गई है।

60 स्कूल बने सेकेंडरी

शिक्षा विभाग ने 60 मिडिल स्कूलों को सेकेंडरी में क्रमोन्नत किया है। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने ट्वीट करके सोमवार को इसकी जानकारी दी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट में की इसकी घोषणा की थी। नए शैक्षणिक सत्र 2020- 21 से क्रमोन्नत हुए विद्यालयों में पढ़ाई शुरू होगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned