लाकडाउन के बाद फिर से चल निकला छेनी-हथोड़े का जादू

जयपुर। राजस्थान की स्टोन आधारित इकाइयों ( Rajasthan based stone units ) में छेनी और हथोड़े ( chisels and hammers ) का जादू चल निकला है। प्रदेश के सिकंदरा, कोटा, झालावाड़, करौली, बयाना, धौलपुर, जैसलमेर आदि स्थानों पर परंपरागत स्टोन आधारित अधिकांश इकाइयों में काम शुरु हो गया है। राज्य सरकार के योजनावद्ध प्रयासों से राज्य में औद्योगिक गतिविधियां ( industrial activities ) सामान्य होने की दिशा में बढऩे लगी है और 35 हजार से अधिक औद्योगिक इकाइयां शुरु हो गई है। अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 28 May 2020, 06:38 PM IST

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से स्वयं औद्योगिक परिसंघों से संवाद का परिणाम रहा है कि राज्य में औद्योगिक गतिविधियों में तेजी आई है। आयुक्त उद्योग मुक्तानन्द अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश में लॉकडाउन-4 को ओपनिंग-1 के रुप में लेते हुए औद्योगिक निवेश बढ़ाने और स्थानित इकाइयों में औद्योगिक गतिविधियों को सामान्य स्तर पर लाने के समन्वित प्रयास किए जा रहे हैं।
अग्रवाल ने बताया कि दौसा के सिकंदरा में स्टोन का काम कर रही आधी से अधिक इकाइयों में छेनी-हथोड़े का जादू चल निकला है। उन्होंने बताया कि करौली के हल्के लाल पत्थर पर आकर्षक जाली-झरोखे, छतरियां, मूर्तियां, फब्बारें, डिजाइनर पिल्लर और पत्थर के मुंह बोलते अन्य डेकोरेटिव उत्पादों को घडऩे का काम शुरु हो गया है। इसी तरह से करौली में परंपरागत सेंड स्टोन की 150 में से 140 इकाइयों में चौखट, जाली-झरोखे, स्लेब्स आदि का काम शुरु हो गया है। भरतपुर बयाना के बंशी पहाड़पुर पत्थर की रीको औद्योगिक क्षेत्र, आईआईडी और आसपास की करीब 200 इकाइयों में से 160 इकाइयों में काम शुरु हो गया है। उन्होंने बताया कि इसी तरह से धौलपुर की 85 पत्थर की इकाइयों में काम होने लगा है।
आयुक्त अग्रवाल ने बताया कि विश्वविख्यात कोटा स्टोन की इकाइयों में उत्पादन शुरु होने से क्षेत्र के श्रमिकों को रोजगार मिलने लगा है। उन्होंने बताया कि कोटा स्टोन की झालावाड़ की 400 इकाइयों और कोटा मेें 260 इकाइयों में काम शुरु हो गया है। उन्होंने बताया कि स्टोन उद्योग से अधिकांश स्थानीय लोग ही जुड़े हुए है ऐसे में स्थानीय स्तर पर रोजगार के बेहतर अवसर होने से श्रमिकों का गांवों की और पलायन भी रुकेगा और श्रम शक्ति उत्पादकता से जुड़ेगी।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned