विष्णुत्तद सुसाइड़ केस में सीबीआई ने की ये बड़ी तैयारी

Ci Vishanu Dutt suicide case...सुसाइड से पहले उन्होनें अपने कुछ मित्रों से फोन चैट और कॉल के जरिए बातचीत भी की थी और अपने उपर बन रहे लगातार प्रेशर के बारे में भी चर्चा की थी। विष्णु दत्त सुसाइड केस के बाद थाने के भी लगभग पूरे स्टाफ ने खुद को इस थाने से अन्य थानों मे लगाने के लिए एसपी को भी पत्र सौंपा था।

By: JAYANT SHARMA

Updated: 29 Jun 2020, 12:08 PM IST


जयपुर
दो साल छह महीने के बाद आज फिर सीबीआई की टीम चूरू जिले में डेरा डाल रही है। मामला इस बार भी एक संगीन अपराध से जुड़ा है और केस इस कारण भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इस केस में एक एमएलए का नाम भी काफी उछला था। दरअसल सीबीआई की टीम इस बार विष्णुदत्त विश्नोई सुसाइड़ केस की जांच करने आ रही है। आज दोपहर तक टीम चूरू पहुंच जाएगी। दिवंगत विष्णुदत्त राजगढ़ थाने के सीआई थे और पुलिस मुख्यालय के अफसरों की गुड बुक्स में टॉप टेन सीआई में शामिल थे। लेकिन कुछ दिन पहले वे अपने क्वाटर में फंदे से लटके मिले थे और उनके सुसाइड़ केस के बाद कइ मामले उछले थे।


सीन रीक्रियेट करेगी सीबीआई, परिजनों तक भी जा सकती है
23 मई को राजगढ़ सीआई विष्णु दत्त ने सुसाइड़ कर लिया था। उनके पास से दो सुसाइड़ नोट मिले थे। इससे ठीक पहले वे हत्या के एक मामले की जांच में लगे हुए थे। सुसाइड से पहले उन्होनें अपने कुछ मित्रों से फोन चैट और कॉल के जरिए बातचीत भी की थी और अपने उपर बन रहे लगातार प्रेशर के बारे में भी चर्चा की थी। विष्णु दत्त सुसाइड केस के बाद थाने के भी लगभग पूरे स्टाफ ने खुद को इस थाने से अन्य थानों मे लगाने के लिए एसपी को भी पत्र सौंपा था। हांलाकि अधिकतर पुलिसकर्मियों को वहां से नहीं हिलाया गया। इस पूरे मामले में एमएलए कृष्णा पूनिया का नाम भी उछला था। बाद में पूनिया ने भी बयान जारी कर इस मामले से खुद को अलग बताया था। सीबीआई अफसरों के अनुसार इस पूरे सीन को फिर से रिक्रियेट किया जाएगा। उस समय सीआई के साथ जो स्टाफ मौजूद था उससे पूछताछ होगी और बाद में स्थानीय लोगों और उनके दोस्तों से भी बातचीत की जाएगी। उनके परिवार के सदस्यों से भी पूछताछ होगी।


थाने के निर्माण में धांधली को लेकर चल रहा था माहौल
राजगढ़ थाने का पुन निर्माण में लगे रुपयों में धांधली को लेकर चर्चा चल रही थी जिस समय सीआई ने सुसाइड़ किया था। थाने का पुन: निर्माण इसी साल जनवरी में पूरा हुआ था और खुद डीजीपी वहां उद्धाटन करने पहुंचे थे। सीआई की पुलिस महकमे में रेप्यूटेशन का इसी बाद से अंदाजा लगाया जा सकता है कि डीजीपी भूपेन्द्र सिंह पहुंचे तो थाने का उद्धघाटन करने थे लेकिन उन्होनें थाने का फीता खुद विष्णु दत्त से कटवाया था।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned