आसमान से नाप रहे शहर, बनेगा विकास का जोनल प्लान

नगर विकास न्यास (urban development trust) की पेराफरी में लैंड बैंक (land bank) व जोनल डवलपमेंट प्लान (zonal development plan) के लिए शहर को ड्रोन कैमरे (drone cameras) से नापा जा रहा है। इसके लिए मालवीय नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी जयपुर (MNIT) की टीम भीलवाड़ा शहर (Bhilwara City) के साथ ही मास्टर प्लान (master plan) में शामिल 53 राजस्व गांव की जमीन व विकास की स्थिति कैमरे में कैद कर रही है।

By: vinod

Published: 23 Jun 2021, 11:48 PM IST

भीलवाड़ा।नगर विकास न्यास (urban development trust) की पेराफरी में लैंड बैंक (land bank) व जोनल डवलपमेंट प्लान (zonal development plan) के लिए शहर को ड्रोन कैमरे (drone cameras) से नापा जा रहा है। इसके लिए मालवीय नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी जयपुर (MNIT) की टीम भीलवाड़ा शहर (Bhilwara City) के साथ ही मास्टर प्लान (master plan) में शामिल 53 राजस्व गांव की जमीन व विकास की स्थिति कैमरे में कैद कर रही है।
राजस्थान पत्रिका के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी की राज्य सरकार के खिलाफ दायर एक मामले में राजस्थान हाईकोर्ट के आदेश की पालना में प्रदेश में नगरीय विकास विभाग जिलों में जोनल डवलपमेंट प्लान तैयार किया जा रहा है। यह प्लान तैयार होने के बाद ही राज्य सरकार प्रदेश में दो अक्टूबर से प्रशासन शहरों के संग अभियान शुरू करेगा। इसी के तहत भीलवाड़ा न्यास भी जोनल डवलपमेंट प्लान बना रहा है।
पांच जोन में होगा काम
न्यास ने शहर एवं पेराफरी क्षेत्र को पांच जोन में विभाजित कर रखा है। सभी पांच जोन का न्यास अब जमीन, विकास एवं सुविधाओं का डाटा तैयार कर रही है। इसमें सेटेलाइट की मदद ली जा रही है। सैटेलाइट इमेज को लेकर संशय होने से न्यास हाइटेक ड्रोन के जरिए जोन के प्रत्येक हिस्से को चिंहित कर रहा है। इनमें आबादी क्षेत्र, न्यास की रिक्त जमीन, विकास कार्य, उद्यान, सर्किल एवं न्यास की विभिन्न योजनाओं के कार्य की इमेज कैद की जा रही है। नई तकनीक का उपयोग करने से क्षेत्र की ताजा स्थिति सामने आ जाएगी।
यह है ड्रोन की जद में
न्यास के पेराफरी क्षेत्र में 40 फीसदी क्षेत्र भीलवाड़ा शहर का है। शेष 60 फीसदी हिस्सा पेराफरी क्षेत्र के साथ भीलवाड़ा शहर के मास्टर प्लान में शामिल 53 राजस्व गांव है। यह गांव मांडल, सहाड़ा व शाहपुरा विधानसभा क्षेत्र से जुड़े हैं। न्यास की पेराफरी अजमेर रोड क्षेत्र में स्टेशनगनर, कोटा रोड पर सुवाणा तक, चित्तौडग़ढ़ रोड पर मण्डपिया क्षेत्र, पुर रोड पर पांसल व समोड़ी तक है। उपनगर नियोजक अनुपम शर्मा व टीम एमएनआईटी के साथ अभी शहर के विभिन्न हिस्सों में काम कर रही है।
न्यास का लैंड बैंक बनेगा
न्यास की योजना व गैर आवासीय योजना क्षेत्र का समूचा खाका ड्रोन के जरिए कैमरे में कैद किया जाएगा। इससे न्यास की भूमि कहां-कहां पर और मौजूदा स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। न्यास की भूमि पर कितना कब्जा और कहां भूखंड है, यह भी ड्रोन सर्वे से सामने आ जाएगा। सर्वे के लिए 22 मई को वर्क आर्डर जारी किया था और गत शनिवार से ड्रोन सर्वे व जोन डवलपमेंट प्लान पर काम शुरू हो गया है। समूची प्रक्रिया पर करीब तीन करोड़ रुपए खर्च होंगे।
न्यास की भूमि होगी अतिक्रमण मुक्त
न्यास शहर एवं पेराफेरी में शामिल 53 राजस्व गांव का जोनल डवलपमेंट व लैंड बैंक बना रहा है। इसके लिए ड्रोन के जरिए टीमें सर्वे कर रही है। लैंड बैंक बनने से न्यास को बड़ा फायदा होगा। न्यास की भूमि को अतिक्रमण मुक्त करा सकेंगे और आवासीय योजनाओं पर काम हो सकेगा। महिपाल सिंह, सचिव, नगर विकास न्यास, भीलवाड़ा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned