मुख्य न्यायाधीश ने डीजे से वीसी के जरिए लिया हालात का जायजा,पूर्णतया लॉकडाउन पर नहीं हुई चर्चा

(Covid 19 )कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर (CJ Indrajeet Mahanty) मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति ने प्रदेश के सभी (DJ) जिला एवं सत्र न्यायाधिशों के साथ (Meeting) बैठक की और हालात का जायजा लिया।

By: Mukesh Sharma

Published: 27 Mar 2020, 09:31 PM IST

जयपुर,27 मार्च

(Covid 19 )कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर (CJ Indrajeet Mahanty) मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति ने प्रदेश के सभी (DJ) जिला एवं सत्र न्यायाधिशों के साथ (Meeting) बैठक की और हालात का जायजा लिया। हाईकोर्ट के कॉन्फ्रेस हॉल में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए हुई इस बैठक में जयपुर में मुख्य न्यायाधीश के साथ प्रशासनिक न्यायाधीश संगीत लोढा,रजिस्ट्रार जनरल निर्मलसिंह मेड़तावल, डीजे जयपुर मेट्रो उमाशंकर व्यास मौजुद रहे।
बैठक में मुख्य न्यायाधीश ने प्रदेश के सभी जिलों के डीजेे से कोरोना संक्रमण को देखते हुए पिछले दिनों लिए गये निर्णयों पर फीडबैक लिया। जानकारी के अनुसार बैठक में आगामी दिनो में प्रदेश की अदालतो में ग्रीष्मकालीन अवकाश के समान न्यायिक अधिकारियों को बारी—बारी से अवकाश देने पर भी चर्चा हुई और मुख्य न्यायाधीश ने सभी डीजे को आवश्यकता के अनुसार न्यायिक अधिकारियों को अवकाश देने या नहीं देने को कहा है।
सभी डीजे को अदालतो में कम से कम भीड़ करने के लिए कार्मिको की डयूटी तय करने को कहा है। इसके साथ ही बंदियों को तारीख पेशी पर अदालत में व्यक्तिगत रुप से लाने से बचने के लिए सभी जेल में वीडियो कांफ्रेंसिंग से काम करने और जहां वीसी की सुविधा नहीं वहां व्यवस्था करने को कहा है। बैठक के दौरान कई डीजे ने जिला प्रशासन की ओर से मास्क, थर्मल गन और सेनेटाईजर उपलब्ध नहीं करवाने की शिकायत की तो कई डीजे ने उनके यहां कोरोना का ज्यादा असर नही होने के चलते हालात सामान्य होने की बात कही। मुख्य न्यायाधीश ने आगामी दिनो में अदालतों में सुनवाई के लिए सभी प्रिसिंपल डीजे से सुझाव मांगे हैं और शुक्रवार शाम 8 बजे तक रजिस्ट्रार जनरल को अपने सुझाव भेजने को कहा है।
अदालतें बंद करने पर नहीं हुई चर्चा—
बैठक के दौरान ना ही मुख्य न्यायाधीश और ना ही किसी डीजे ने अदालतों को पूरी तरह बंद करने को लेकर कोई चर्चा तक नहीं की। जबकि कई राज्यों में हाईकोर्ट और ट्रायल कोर्ट को पूरी तरह बंद किया जा चुका है। अधिकांश अदालतों में बेहद अर्जेंट केस की सुनवाई बिना वकीलों की उपस्थिति के हो रही हैं। नेशनल लॉक डॉउन के दिन जैसे जैसे आगे बढ रहे हैं वैसे—वैसे तेजी से केस भी पहुंचने कम हो रहे हैं।

Mukesh Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned