प्रेशर पॉलिटिक्सः गहलोत-पायलट की एक-दूसरे के कैंप में सियासी सेंधमारी

गहलोत के बाद पायलट भी कर रहे विधायकों में सेंधमारी के प्रयास, अलवर दौरे के दौरान गहलोत कैंप के विधायकों से पायलट की मुलाकात चर्चा का विषय, पायलट कैंप के इंद्राज गु्र्जर, पी.आर. मीणा, विश्वेंद्र सिंह और भंवर लाल शर्मा में लग चुकी है गहलोत कैंप की सेंध

By: firoz shaifi

Published: 21 Jun 2021, 05:14 PM IST

फिरोज सैफी/जयपुर।

प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर शुरू हुई सियासी बयानबाजी और खींचतान के बीच अब गहलोत-पायलट कैंप में सेंधमारी का खेल भी शुरू हो चुका है। दोनों खेमों के लोग एक-दूसरे के खेमों में सेंधमारी करने में जुटे हुए हैं। पहले जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सचिन पायलट कैंप में विधायकों की सेंधमारी की तो अब सचिन पायलट भी गहलोत की तर्ज पर ही गहलोत कैंप के विधायकों में सेंधमारी का प्रयास कर रहे हैं।

रविवार को अलवर दौरे के दौरान गहलोत कैंप कैंप के 3 विधायकों के साथ सचिन पायलट की मुलाकात को सेंधमारी के तौर पर ही देखा जा रहा है। सियासी हलकों में भी इसकी खूब चर्चाएं हैं। राजनीतिक प्रेक्षकों का भी का मानना है कि सचिन पायलट एक नई रणनीति के तहत सेंधमारी का जवाब सेंधमारी से देते नजर आ रहे हैं।

पायलट ने रविवार को की थी गहलोत कैंप के विधायकों से मुलाकात
दरअसल रविवार को अलवर दौरे के दौरान दिल्ली जाने से पहले सचिन पायलट ने कठूमर में गहलोत कैंप के माने जाने वाले विधायक बाबूलाल बैरवा से उनके निवास पर जाकर मुलाकात की थी, जहां बाबूलाल बैरवा ने उनका स्वागत किया था। इसके बाद सचिन पायलट राजगढ़ विधायक जौहरी लाल मीणा के आवास पर पहुंचे और उनकी पत्नी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

इसके बाद किशनगढ़ बास में भी बीएसपी से कांग्रेस में आए दीपचंद खेरिया के कार्यालय पहुंच गए। हालांकि इस दौरान दीपचंद खेरिया कार्यालय में मौजूद नहीं थे लेकिन खेरिया के समर्थकों ने पायलट का खूब स्वागत किया। इस दौरान पायलट ने विधायक खैरिया के बेटे लोकेश खैरिया के जन्मदिन का केक भी कटवाया। ऐसे में साफ है कि सचिन पायलट भी अब सेंधमारी के प्रयास में जुटे हुए हैं।

गहलोत भी कर चुके हैं पायलट कैंप में सेंधमारी
इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी सचिन पायलट कैंप के विधायकों में सेंधमारी कर चुके हैं। इनमें इंद्राज गुर्जर, पी आर मीणा, विश्वेंद्र सिंह, और भंवर लाल शर्मा शामिल हैं। यह चारों विधायक बीते साल सियासी संकट के दौरान पायलट कैंप के साथ मानेसर में रुके थे।

चारों विधायक करते हैं मुख्यमंत्री का गुणगान
वहीं सचिन पायलट के माने जाने वाले इन चारों विधायक इन दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का खूब गुणगान करते नजर आते हैं। विराट नगर से विधायक इंद्राज गुर्जर ने तो सड़क शिलान्यास कार्यक्रम में ही मुख्यमंत्री की जमकर तारीफ की थी तो वहीं पी आर मीणा ने भी मुख्यमंत्री के काम की खूब जमकर तारीफ की थी।

मुख्यमंत्री के कट्टर आलोचकों में रहे पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह और भंवर लाल शर्मा भी इन दिनों लगातार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गुणगान करते नजर आते हैं। भंवर लाल शर्मा ने तो यह भी कहा था कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत उनके नेता थे और नेता रहेंगे।

पायलट कैंप को इन विधायकों पर विश्वास नहीं
दूसरी ओर विधायक इंद्राज गुर्जर, विश्वेंद्र सिंह पी आर मीणा भले ही लाख दावे करें कि उनकी निष्ठा सचिन पायलट कैंप के साथ हैं लेकिन अब सचिन पायलट कैंप के अंदर ही उनकी निष्ठा को शक की नजर से देखा जाता है। चाह कर भी अब पायलट कैंप से जुड़े नेता इन विधायकों पर विश्वास नहीं कर पा रहे रहे हैं।

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned