जयपुर के किसान भवन में बंद, अनाज, फल-सब्जी की सूचनाएं

- लाल कोठी स्थित किसान भवन में बंद पड़ा है एलईडी सूचना बोर्ड

- भवन की बाहरी दीवार पर लगकर चालू रहता तो होती उपयोगिता
- बोर्ड पर अनाज और फल-सब्जी के भाव होते अपडेट

By: surendra kumar samariya

Updated: 18 Dec 2018, 06:05 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

भाजपा सरकार में जनता के लिए उपयोगी तकनीकी विस्तार को लेकर काफी कार्य किए गए। इसके लिए सरकार को राष्ट्रीय स्तर पर कई पुरस्कार भी मिले। इसके बावजूद किसानों के लिए मंडी में उपयोगी तकनीकी होने पर भी लाभ नहीं मिल रहा हैं। अधिकारियों की लापरवाही ही रही कि लालकोठी स्थित किसान भवन में लाखों रुपए लागत की एलईडी सूचना बोर्ड किसान भवन के अंदर प्रथम मंजिल पर बंद पड़ा हैं। यहां पर किसानों का नहीं के बराबर हैं। ऐसे में किसानों को सूचना नहीं मिलती। हालांकि संबंधित अधिकारी कहते है कि भाव में उतार-चढ़ाव होने पर चालू कर दिया जाता है।


- भवन के बाहर लगना चाहिए डिस्प्ले

लालकोठी स्थित मंडी में किसान और दुकानदारों से सूचना बोर्ड के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि भवन के अंदर कोई डिस्प्ले है या नहीं जानकारी नहीं है। यदि अंदर लगा हुआ भी है तो किसी काम का। विभाग को डिस्प्ले बाहर लगाकर लगातार चालू रखना चाहिए।


- लागत 5 लाख रुपए, चला सालभर भी नहीं

जानकारी अनुसार यहां पर एलईडी लगाकर सिमकार्ड के जरिए चालू करने में लगभग 5 लाख रुपए लागत आई थी। इसे लगाने वाली कंपनी के एक्सपर्ट राकेश पूनिया ने बताया कि करीब तीन साल पहले इंस्ट्राल किया गया था। इसे मुहाना मंडी से कनेक्ट कर फल-सब्जी और अनाज के भावों को किसानों तक पहुंचाना था। लेकिन टेंडर उठाने वालों से पूरा पेमेंट नहीं मिलने से हमारी तरफ से कुछ दिनों बाद ही बंद कर दिया था। वर्तमान में भी डिस्प्ले बंद है।


'मुहाना मंडी से जब भी नई तरह की जानकारी आती है तो डिस्प्ले को चालू कर देते हैं। अपडेट नहीं आने पर वेलकम किसान भवन लिखा आता है।- अखिलेश मिश्रा, मैनेजर किसान भवन

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned