CM गहलोत ने सम्भाला पदभार, तो 'डिप्टी' पायलट की दफ्तर तलाश जारी

CM गहलोत ने सम्भाला पदभार, तो 'डिप्टी' पायलट की दफ्तर तलाश जारी

Nakul Devarshi | Publish: Dec, 19 2018 12:30:07 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

CM गहलोत ने सम्भाला पदभार, तो 'डिप्टी' पायलट की दफ्तर तलाश जारी

जयपुर।
राजस्थान के तीसरी बार मुख्यमंत्री बने अशोक गहलोत ने बुधवार को यहां मुख्यमंत्री सचिवालय में अपना कार्यभार ग्रहण कर लिया। वहीं उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को अब भी उनके मुफीद दफ्तर के लिए कमरे की तलाश है।

 

सीएम गहलोत ने सम्भाला पदभार
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को शासन सचिवालय में मुख्यमंत्री सचिवालय कक्ष में पदभार संभाल लिया। इससे पहले सीएम गहलोत ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजिल अर्पित की और सचिवालय स्थित गणेश मंदिर में पूजा अर्चना भी की।

इस अवसर पर मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, मुख्यमंत्री के नवनियुक्त प्रमुख सचिव कुलदीप रांका सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। बाद में मुख्यमंत्री ने गुप्ता और अन्य अधिकारियों के साथ बैठक भी की।

माना जा रहा हैं कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में किसानों का कर्ज माफी के फैसले के बाद राजस्थान में भी इसे लेकर कवायद जारी है और शीघ्र कर्जमाफी का फैसला लेने की संभावना हैं। गौरतलब है कि गहलोत के शपथ लेने के अगले ही दिन मंगलवार को 40 भारतीय प्रशासनिक अधिकारियों (आईएएस) के तबादले किये गए हैं।

... इधर पायलट को दफ्तर की तलाश जारी
मुख्यमंत्री ने भले ही पदभार ग्रहण कर लिया लेकिन सचिन पायलट के लिए उपमुख्यमंत्री के रुतबे वाले दफ्तर की तलाश पूरी नहीं हुई है। पायलट ने मंगलवार को अफसरों के कहने पर सचिवालय का दौरा भी किया। लेकिन उन्हें जगह पसंद नहीं आई।

दरअसल, पायलट के लिए सचिवालय के मुख्य भवन में पूर्व उद्योग मंत्री का कमरा भी तैयार किया गया था लेकिन उन्होंने उसे देखना भी पसंद नहीं किया। पायलट ने मुख्यमंत्री कार्यालय में भी पांच मंजिल घूमकर देखे लेकिन कोई निर्णय नहीं कर सके।

पहले कभी नहीं आई समस्या आई समस्या
पायलट से पहले कांग्रेस के दो उपमुख्यमंत्रियों के कार्यालय को लेकर कभी कोई समस्या नहीं आई। हालांकि पायलट को इस बार उपमुख्यमंत्री के तौर पर ज्यादा वजनदार माना जा रहा है, लिहाजा उनका कार्यालय भी उनके रुतबे के हिसाब से देखना पड़ रहा हैं।

गहलोत सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार अब जल्दी होने वाला है तथा अन्य कई दिग्गज कांग्रेसी नेताओं के मंत्री बनने पर उनके लिए भी उनके रुतबे का दफ्तर देखना अफसरों के लिए मुश्किल होगा। मुख्यमंत्री का कार्यालय नया और आधुनिक सुविधा से सज्जित हैं तथा वसुंधरा राजे के अलावा गहलोत इसमें पहले भी अपना एक कार्यकाल पूरा कर चुके हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned