VIDEO: अब वैभव गहलोत पहुंच गए दिल्ली, AICC को बता दिया चुनाव में करारी हार का कारण

Nakul Devarshi | Publish: Jun, 17 2019 04:14:46 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

VIDEO: अब वैभव गहलोत ( Vaibhav Gehlot ) पहुंच गए दिल्ली, AICC को बता दिया चुनाव में करारी हार का कारण ( Loss in Lok Sabha Election 2019 )

नई दिल्ली/ जयपुर।


राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Rajasthan Chief Minister Ashok Gehlot ) के पुत्र वैभव गहलोत ( VAIBHAV GEHLOT ) ने कांग्रेस पार्टी आलाकमान ( AICC ) को अपनी हार का कारण बता दिया है। नई दिल्ली में पार्टी आलाकमान को दिए अपने फीडबैक में उन्होंने साफ़ किया कि सीएम गहलोत केवल नामांकन के दिन और उसके बाद दो दिन ही प्रचार के लिए जोधपुर ( Jodhpur Constituency ) आए थे। वैभव ने कहा कि मुख्यमंत्री के लिए सभी 25 प्रत्याशी बराबर हैं, उन्होंने किसी तरह का कोई भेदभाव नहीं किया है।

 


मीडिया से बातचीत में हालांकि वैभव गहलोत ने ज़्यादा खुलकर बात नहीं की। उन्होंने हर सवाल का जवाब बहुत नाप-तोल कर दिया। वैभव ने कहा कि पार्टी के आला नेताओं को हार के कारण बता दिए गए हैं। अब नज़दीक आ रहे स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर रणनीति पर भी चर्चा हुई है।


जानकारी के अनुसार राजस्थान में कांग्रेस की हार के कारणों पर अगले दो दिन प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे तमाम प्रत्याशियों से फीडबैक ले रहे हैं।

 

 

हार के कारणों की हो रही समीक्षा
लोकसभा चुनाव 2019 में राजस्थान की सभी 25 सीटें हारने को लेकर कांग्रेस पार्टी में समीक्षाओं और मंथन का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से सोमवार को नई दिल्ली में विभिन्न स्तरों पर हार के कारणों की पड़ताल की गई।

 

एआइसीसी प्रदेश के सभी 25 लोकसभा प्रत्याशियों से हार की वजह जान रही है। इसके लिए प्रदेश के सभी 25 लोकसभा प्रत्याशियों को दिल्ली बुलाया गया है, जहां पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रत्याशियों से हार के क्या क्या कारण रहे इसका फीडबैक ले रहे हैं।

 


दो दिन का है फीडबैक कार्यक्रम
ये फीडबैक कार्यक्रम दो दिन का है। एआइसीसी मुख्यालय में सोमवार और मंगलवार को नेता सीनियर नेताओं को हार के कारण बता रहे हैं। प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, सह प्रभारी विवेक बंसल और तरुण कुमार प्रत्याशियों से वन-टू-वन मुलाकात कर उनसे उनकी हार की वजह पूछ रहे हैं।


13 प्रत्याशियों से सोमवार को, बाकी मंगल को देंगे फीडबैक
प्रदेश के सह प्रभारी विवेक बंसल ने बताया कि पहले दिन सोमवार को प्रदेश के 13 प्रत्याशियों से अलग-अलग मुलाकात की जा रही है और उनसे हार की वजह पूछी जाएगी। उसके बाद दूसरे दिन मंगलवार को 12 प्रत्याशियों को बुलाया गया है। बताया जाता है कि प्रत्याशियों से अपनी अपनी रिपोर्ट बनाकर लाने के लिए भी कहा गया है। दरअसल प्रदेश के अधिकांश प्रत्याशियों ने स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं पर चुनाव के दौरान सहयोग नहीं करने और भितघात करने की शिकायतें भी की थी।


तीनों रिपोर्ट्स का होगा मिलान
कांग्रेस के विश्वस्त सूत्रों की माने तो पर्यवेक्षकों, और प्रदेश कांग्रेस के बाद प्रत्याशियों को बुलाकर उनसे रिपोर्ट लेने के बाद एआइसीसी अपने स्तर पर तैयार की गई हार के कारणों की रिपोर्ट से इन तीनों रिपोर्टस का मिलान करेगी। इसके बाद इन सभी रिपोर्टस को लेकर कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ मंथन कर रिपोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंपी जाएगी।

 

कांग्रेस में बयानबाजी पर आलाकमान सख्त

कांग्रेस में हार के बाद किसी भी तरह की बयानबाजी नहीं करने की कांग्रेस आलाकमान के हिदायतों की अनदेखी करना अब नेताओं को भारी पड़ रहा है। सोशल मीडिया और मीडिया के सामने बयानबाजी करने वाले नेताओं पर कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के सख्त रुख अपना लिया है।

 

जयपुर शहर से कांग्रेस प्रत्याशी रहीं ज्योति खंडेलवाल और प्रदेश सचिव धूपसिंह पूनिया को बयानबाजी के लिए कारण बताओ नोटिस जारी करने के बाद अब कई और नेताओं को भी नोटिस देने की तैयारी कांग्रेस आलाकमान ने शुरू कर दी है।

 

कांग्रेस आलाकमान ने बयानबाजी करने वाले पीसीसी पदाधिकारियों और अन्य नेताओं के बयानों की रिुपोर्ट तलब की थी, जिसके बाद बयानबाजी करने वाले नेताओं की रिपोर्ट दिल्ली भेजी गई है। माना जा रहा है कि इसी सप्ताह में कुछ अन्य नेताओं को भी कारण बताओ नोटिस जारी कर उनसे बयानबाजी की वजह पूछी जाएगी।

 

इसलिए उठाया कदम

दऱअसल लोकसभा चुनाव में हार के बाद से प्रदेश कांग्रेस में उथल पुथल मच गई थी, इस दौरान ही मंत्रियों और पदाधिकारियों ने हार को लेकर बयानबाजी शुरू कर दी थी, जिससे जनता के बीच सत्ता औऱ संगठन की किरकिरी हो रही थी।

 

बयाबनजी पर लगाम लगाने के लिए प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने दो बार अपील जारी कर बयानबाजी नहीं करने की हिदायत दी थी, लेकिन बावजूद इसके बयानबाजी जा रही है, जिसके बाद कांग्रेस आलाकमान ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए दो नेताओं को कारण बताओ नोटिस जारी कर सात में जवाब मांगने के साथ ही अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned