CM गहलोत का मोदी सरकार पर आरोप, हिंदुत्व के नाम पर हो रहा है देश में शासन

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आज देश में हिंदुत्व के नाम पर शासन हो रहा है

By: kamlesh

Published: 14 Apr 2021, 02:16 PM IST

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आज देश में हिंदुत्व के नाम पर शासन हो रहा है धर्म और जाति के नाम पर भड़काना आसान काम है लेकिन जाति के नाम पर सद्भाव बनाना मुश्किल काम होता है। आग लग जाती है लेकिन बुझाना मुश्किल होता है। मुख्यमंत्री गहलोत ने बुधवार को डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती के मौके पर आयोजित प्रदेश स्तरीय वेबीनार में कहा कि देश में आज सभी एजेंसियां दबाव में काम कर रही है ।

सत्ता में बैठे लोगों ने उंगली तक नहीं कटाई
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वेबीनार में भाजपा केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि देश को आजादी ऐसे ही नहीं मिली है आज जो लोग सत्ता में बैठे हैं उन लोगों ने आजादी के आंदोलन में अपनी उंगली तक नहीं कटाई है। गहलोत ने कहा कि मंत्री बनते समय संविधान की शपथ लेते हैं शपथ के अनुसार ही काम भी करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि भाजपा और आरएसएस लोग अफवाह फैलाते हैं कि अंबेडकर गांधी में मतभेद थे।

लोगों को बांटने की साजिश आज चल रही है गहलोत ने कहा कि जिस परिवार में झगड़े होते हैं वह परिवार ऊपर नहीं उठ सकता। गांव, जिले, राज्य में देश में भी यही बात लागू होती है। उन्होंने कहा कि 70 साल में विकास हुआ तब जाकर हम यहां तक पहुंचे हैं लेकिन फिर भी हमें सुनना पड़ता है कि हमने 70 साल में देश में क्या किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर और महात्मा गांधी ने अपमान के घूंट को जिया है और पिया है। उन्होंने प्रतिक्रिया करने की बजाय गुस्से को अपने अंदर पाल लिया इसका उपयोग उन्होंने सरकार में समरसता लाने के लिए किया।अंबेडकर को स्कूल में अपमान के घूंट पीने पड़े उस गुस्से को पालकर वे विदेश पढ़ने गए ।

आजाद होते ही मिला महिलाओं को वोट का अधिकार
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वेबिनार में कहा कि हमारे देश में आजाद होते ही महिलाओं को वोट देने का अधिकार मिला जबकि अमेरिका इंग्लैंड में आजादी के लंबे वक्त बाद भी अधिकार दिया गया इससे कल्पना की जा सकती है कि महापुरुषों की सोच कितनी बड़ी थी। आज देश में माहौल पहले जैसा नहीं है, सरकारें तो बदलती रहती हैं लेकिन यदि संविधान की भावना आपके मूल में हैं तो देश विकास करेगा लेकिन आज वैसा नहीं है आज लोकतंत्र के सामने चुनौती आ गई है।

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि राजीव गांधी ने संविधान में बदलाव किए तब महिला और एससी एसटी प्रधान , सरपंच बनने लगे पहले कौन उनको प्रधान सरपंच बनने दे देता था।
भारत सरकार ने आजादी की 75 वीं वर्षगांठ मनाने का फैसला किया है हम केंद्र सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हैं। युवा पीढ़ी को हालातों का खुलकर मंथन करना चाहिए आने वाले कल का भार युवाओं के कंधों पर होगा। 2045 तक देश में सबसे ज्यादा आबादी युवाओं की रहने वाली है।

वेबीनार में गांधीवादी नेता एसएन सुब्बाराव ने कहा कि हजारों सालों से दलितों पर अत्याचार होते रहे हैं इसलिए संविधान में आरक्षण की व्यवस्था की गई थी दलितों को कई तरह का अपमान सहना पड़ा। मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि अंबेडकर का देश के लिए योगदान अद्भुत है समाज में परेशानियां अभी व्याप्त है उनके बारे में अंबेडकर ने दूरदर्शिता रखी थी। वेबीनार के दौरान कई लोगों को सम्मानित भी किया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned