मंत्रिमंडल फेरबदल से पहले सीएम ने मांगा मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड, कमजोर परफॉर्मेंस वाले मंत्रियों की होगी छुट्टी

-मंत्रियों के पिछले 2 साल का रिपोर्ट कार्ड मंत्रिमंडल सचिवालय से मांगा है सीएम ने, कमजोर परफॉर्मेंस वाले मंत्रियों की होगी छुट्टी तो कई मंत्रियों के बदले जाएंगे विभाग

By: firoz shaifi

Published: 15 Jun 2021, 11:54 AM IST

फिरोज सैफी/जयपुर।

प्रदेश में जुलाई माह में प्रस्तावित मंत्रिमंडल फेरबदल से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों के कामकाज की परफॉर्मेंस रिपोर्ट तलब की है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंत्रिमंडल सचिवालय को इस संबंध में निर्देश दिए हैं, जिस पर मंत्रिमंडल सचिवालय मंत्रियों के कामकाज की परफॉर्मेंस रिपोर्ट तैयार करने में जुट गया है।

कहा जा रहा है कि इसी सप्ताह मंत्रिमंडल सचिवालय मंत्रियों की परफॉर्मेंस रिपोर्ट तैयार करके मुख्यमंत्री को भेज देगा, जिसके बाद मुख्यमंत्री मंत्रियों के कामकाज का आंकलन करके तय करेंगे कि मंत्रिमंडल में कौन मंत्री बरकरार रहेगा और किसकी छुट्टी होगी।

कमजोर परफॉर्मेंस वाले मंत्रियों की हो सकती है छुट्टी
सरकार से जुड़े विश्वस्त सूत्रों की माने तो कमजोर परफॉर्मेंस वाले मंत्रियों की मंत्रिमंडल से छुट्टी हो सकती है या फिर कई कमजोर परफॉर्मेंस वाले मंत्रियों के विभाग बदले जा सकते हैं।मुख्यमंत्री की ओर से मंत्रियों के कामकाज की रिपोर्ट तैयार करने की खबरों से तमाम मंत्रियों में अंदरखाने बैचेनी बढ़ी हुई है। दूसरी ओर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी कोरोना काल के बीच ही सभी मंत्रियों के विभागों की समीक्षा बैठकर लेकर कामकाज की समीक्षा कर चुके हैं।

मुख्यमंत्री इसलिए ले रहे परफॉर्मेंस रिपोर्ट
दरअसल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मंत्रिमंडल फेरबदल और विस्तार में अन्य विधायकों को शामिल करने के लिए यह कवायद शुरू की है, जिसके तहत कमजोर परफोर्मेंस वाले मंत्रियों को बाहर का रास्ता दिखा कर उनके स्थान पर नए लोगों को मौका दिया जाए।

मंत्रिमंडल में 9 स्थान खाली
गहलोत मंत्रिमंडसल में अधिकतम 30 मंत्री ही बनाए जा सकते हैं, फिलहाल गहलोत मंत्रिमंडल में 9 स्थान खाली है, इनमें सियासी संकट के दौरान मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए गए सचिन पायलट, रमेश मीणा, विश्वेंद्र सिंह भी है। इसके साथ ही कैबिनेट के एक अन्य सदस्य मास्टर भंवर लाल मेघवाल का निधन होने के चलते उनका स्थान भी कैबिनेट में खाली है।

बेहतर परफॉर्मेंस वाले हो सकते हैं प्रमोट
बताया जाता है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मंत्रियों की परफॉर्मेंस रिपोर्ट के आधार पर बेहतर परफॉर्मेंस देने वाले राज्य मंत्रियों को कैबिनेट में प्रमोट कर सकते हैं। साथ ही बेहतर परफॉर्मेंस वाले मंत्रियों को राज्यमंत्री के तौर पर भी भारी भरकम विभाग दिए जा सकते हैं। गौरतलब है कि प्रदेश में गहलोत सरकार बनने के बाद अभी तक मंत्रिमंडल फेरबदल और विस्तार नहीं हो पाया है। मंत्रिमंडल फेरबदल विस्तार की मांग को लेकर इन दिनों सियासी गलियारों में चर्चाएं तेज हैं।

सचिन पायलट कैंप के साथ ही अब गहलोत कैंप से जुड़े विधायकों ने भी जल्द से जल्द मंत्रिमंडल विस्तार की मांग तेज कर दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ गोविंद डोटासरा ने जल्द मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल की बात कही है।

firoz shaifi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned