सीएम गहलोत बोले— केंद्र भी चलाए राजस्थान की तरह निशुल्क श्रमिक स्पेशल बसें

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रवासी श्रमिकों के लिए राजस्थान की तरह केंद्र को भी निशुल्क श्रमिक स्पेशल बसें चलानी चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया कि केंद्र राज्यों के बीच ऐसी बस सेवाओं का समन्वय करें जहां ट्रेन लोड उपलब्ध नहीं है...

By: dinesh

Updated: 20 May 2020, 08:56 AM IST

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रवासी श्रमिकों के लिए राजस्थान की तरह केंद्र को भी निशुल्क श्रमिक स्पेशल बसें चलानी चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया कि केंद्र राज्यों के बीच ऐसी बस सेवाओं का समन्वय करें जहां ट्रेन लोड उपलब्ध नहीं है। गहलोत ने कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी की यूपी में बस सेवा की पेशकश पर कहा कि इस पर राजनीति के बजाय स्वागत होना चाहिए। यह बसें गाजीपुर, दिल्ली, यूपी सीमा जैसे हालात से बचने के लिए राज्य सरकार की मदद कर सकती है। कांग्रेस की ओर से किराए पर ली गई बसे अभी भी भरतपुर, यूपी की सीमा पर प्रतीक्षा कर रही है। गहलोत ने आश्वासन दिया कि राजस्थान सरकार अन्य राज्यों से पहल कर पुरजोर प्रयास करेगी कि श्रमिक बिना तकलीफ के अपने घर पहुंच सके।


ये भी पढ़ें :—
1 जून से चलेंगी 200 नॉन-ऐसी ट्रेनें
1 जून से 200 नॉन-एसी ट्रेन का संचालन भी शुरू होने जा रहा है। इसकी घोषणा मंगलवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने की। रेल मंत्री गोयल ने कहा कि, 'फिलहाल श्रमिकों के लिए मंगलवार को 200 श्रमिक स्पेशल ट्रेन चली है। जबकि आगे चलकर ये संख्या बड़े पैमाने पर बढ़ाई जाएंगी।' उन्होंने कहा कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन के अलावा भारतीय रेल 1 जून से टाइम टेबल के अनुसार प्रतिदिन 200 नॉन एसी ट्रेन चलाएगा। गोयल ने राज्य सरकारों से आग्रह किया है कि श्रमिकों की सहायता के लिए उन्हें नजदीकी मेनलाइन स्टेशन के पास रजिस्टर करे। इसके बाद उनकी लिस्ट रेलवे को दें, जिससे रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला सकेगी। वहीं श्रमिकों से आग्रह किया है कि वो अपने स्थान पर रहें, बहुत जल्द भारतीय रेल उन्हें गंतव्य तक पहुंचा देगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned