CM गहलोत ने ट्विटर पर लगातार किए 7 ट्वीट, बेरोजगारी के मुद्दे पर NDA सरकार को लिया आड़े हाथ, कसे तंज

CM गहलोत ने ट्विटर पर लगातार किए 7 ट्वीट, बेरोजगारी के मुद्दे पर NDA सरकार को लिया आड़े हाथ, कसे तंज

rohit sharma | Publish: Jun, 01 2019 09:34:45 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

चुनाव परिणाम के बाद कुछ दिन थमा बयानबाजियों का दौर फिर से शुरू होता नजर आ रहा है। सूबे के मुखिया अशोक गहलोत ( CM Ashok Gehlot ) ने बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र सरकार को एक बार फिर आड़े हाथों लिया। सीएम गहलोत ने मुद्दे को लेकर सोशल मीडिया पर एक के बाद एक लगातार सात ट्वीट किए। इस दौरान सीएम NDA सरकार को सोशल मीडिया पर 'ट्विटर वार' ( Twitter War ) के जरिए घेरते नजर आए।

जयपुर।

चुनाव परिणाम के बाद कुछ दिन थमा बयानबाजियों का दौर फिर से शुरू होता नजर आ रहा है। सूबे के मुखिया अशोक गहलोत ( Cm Ashok Gehlot ) ने बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र सरकार को एक बार फिर आड़े हाथों लिया। सीएम गहलोत ने मुद्दे को लेकर सोशल मीडिया पर एक के बाद एक लगातार सात ट्वीट किए। इस दौरान सीएम NDA सरकार को सोशल मीडिया पर 'ट्विटर वार' ( Twitter War ) के जरिए घेरते नजर आए।

 

गहलोत ने किया 'ट्विटर वार'

गहलोत ने ट्वीट में लिखा कि देश में बेरोजगारी दर 45 साल के सबसे ऊंचे स्तर पर होने की रोजगार से जुड़ी नेशनल सैम्पल सर्वे ऑफिस (NSSO) की जो रिपोर्ट मीडिया में पहले लीक होकर आ गयी थी उसे एनडीए सरकार ने पूर्व में यह कहकर खारिज कर दिया था कि बेरोजगारी के आंकड़ों को अभी अंतिम रूप नहीं दिया गया है, जबकि कल आधिकारिक रूप से केंद्र सरकार ने इस रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया और पिछले 45 वर्ष में उच्चतम बेरोजगारी के आंकड़े जारी किये।

GEHLOT

CM गहलोत ने दूसरे ट्वीट में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) ने लगातार यह मुद्दा उठाया था लेकिन केंद्र सरकार ने इस पर कोई जवाब नहीं दिया। बेरोजगारी के आंकड़ों पर विवाद के चलते राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग ( NSC ) के कार्यकारी चेयरमैन और सदस्य ने यह आरोप लगाते हुए इस्तीफा दे दिया था कि आयोग से मंजूरी मिलने के बाद भी सरकार ने सर्वे अटका कर रखा और आंकड़े जारी नहीं किये। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी सहित तमाम विपक्षी पार्टियां जो कह रही थीं वही सच निकला।

 

मुख्यमंत्री गहलोत ने केंद्र सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि सरकार पर मीडिया की आलोचना का भी कोई फर्क नहीं पड़ा। बेरोजगारी के आंकड़ों को छुपाने को लेकर काफी सम्पादकीय लिखे गए, कटु आलोचना हुई कि इतिहास में पहली बार आंकड़े रोके जा रहे हैं। जिन आकड़ों के आधार पर सभी डिपार्टमेंट्स की प्लानिंग होती है, एनएसएसओ के आंकड़ों के आधार पर केंद्र सरकार के तमाम विभागों की योजनाएं बनती हैं, उनको रोकने का अपराध किया जा रहा है, मीडिया ने इसकी जमकर आलोचना की थी लेकिन सरकार पर कोई फर्क नहीं पड़ा।

GEHLOT

CM गहलोत ने लगाए केंद्र सरकार पर गंभीर

सीएम गहलोत ने केंद्र सरकार पर सत्ता पाने का गंभीर आरोप लगाते हुए एक और ट्वीट के जरिए कहा कि बेरोजगारी के बदतर हालातों की वास्तविकता को छुपाकर एनडीए गवर्नमेंट ने जानबूझकर देश के युवाओं को गुमराह किया.... यह कितनी विडंबना है कि सरकार ने सरकारी आंकड़ों को राजनीतिक लाभ के लिए ख़ारिज कर दिया और सत्ता में आते ही उन्हें स्वीकार कर लिया। यह खुले रूप में देश के सामने उसी मानसिकता का प्रदर्शन है जिसे हम लगातार कहते आ रहे हैं कि ये लोग सत्ता प्राप्ति के लिए कुछ भी कर सकते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned