वसुंधरा सरकार ने अब महिलाओं को दी बड़ी राहत भरी सौगात, जानें क्या होने जा रहा फ़ायदा

वसुंधरा सरकार ने अब महिलाओं को दी बड़ी राहत भरी सौगात, जानें क्या होने जा रहा फ़ायदा

By: nakul

Published: 16 May 2018, 10:54 AM IST

जयपुर।
राजस्थान की वसुंधरा सरकार ने चुनावी साल में महिला अधिकारियों व कर्मचारियों को नई सौगात दे दी है। अब सरकार के तमाम विभागों में कार्यरत महिला अधिकारियों और कर्मचारियों को 18 साल तक बच्चों की देखभाल के लिए दो साल में अधिकतम 730 दिन का अवकाश मिल सकेगा।

 

मंत्रिमंडल की मंजूरी व राज्यपाल की सहमति के बाद राजस्थान सेवा नियमों में संशोधन की प्रक्रिया अंतिम चरण में पहुंच गई है।

 

महिला अधिकारियों व कर्मचारियों को अधिकार होगा कि वे बच्चों के 18 साल का होने तक उनकी देखभाल के लिए कभी भी टुकड़ों में दो साल का अवकाश ले सकेंगी।

 

एक साल में अवकाश तीन बार से अधिक नहीं मिलेगा और इसका लाभ दो बच्चों तक के लिए ही मिलेगा। यदि बच्चा नि:शक्त होगा तो उसके लिए 22 साल की उम्र तक इस छुट्टी का लाभ लिया जा सकेगा। पहले किसी ने बच्चे की देखभाल के लिए छुट्टी ली है तो उसका दो साल के अवकाश पर कोई प्रभाव नहीं होगा।


... इधर महिला बंदी व उनके बच्चे जानेंगे अधिकार
महिला बन्दी व उनके बच्चों के अधिकारों को संरक्षित करने के अभियान के तहत मंगलवार को यहां जयपुर जिला सेशन न्यायालय के कॉन्फ्रेंस हॉल में विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष मदन गोपाल व्यास की अध्यक्षता में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।

 

इस अवसर पर व्यास ने बताया कि 17 मई से आगामी 10 दिनों तक महिला बंदियों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए एक अभियान चलाया जायेगा। इसके तहत एक टीम गठित की जायेगी जिसमें शिक्षा, चिकित्सा, मनोविज्ञान व महिला एवं बाल विकास के अधिकारी होंगे।

 

व्यास ने बताया कि ये टीम विभिन्न कारागृहों का दौरा कर वहां मौजूद महिला कैदियों की स्थिति का अवलोकन कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। ये टीम महिला बंदियों और उनके बच्चों के अधिकारों के बारे मे भी उन्हें जागरूक करेगी।

 

 

... और यहां मिलीं अनुकम्पा नियुक्तियां, परिवार को मिला सम्बल
जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड द्वारा मंगलवार को एक आदेश जारी कर निगम के मृतक कर्मचारियों के 23 आश्रितों को अनुकम्पात्मक आधार पर परिवीक्षाधीन प्रशिक्षणार्थी के रुप में विभिन्न पदों पर नियुक्ति प्रदान की गई। सभी को अपने पदस्थापित स्थान पर आदेश जारी होने की तिथि से एक माह में कार्यग्रहण करने के निर्देश दिए गए है।

 

जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार निगम द्वारा मृतक कर्मचारियों के आश्रितों के नियुक्ति प्रकरणों का त्वरित निस्तारण करते हुए वाणिज्यिक सहायक-द्वितीय के पद पर 7 को एवं सहायक प्रथम के पद पर 8 को, सहायक द्वितीय के पद पर 4 को और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद पर 4 को नियुक्ति दी गई है।

 

निगम द्वारा जारी आदेश के अनुसार मार्शल तवकर, गुलशन सच्चानन्दानी, राजवीर सिंह, शंकर लाल मीणा, कुमारी आचुकी गुर्जर, मोना मालव व प्रेमलता गौतम को वाणिज्यिक सहायक-द्वितीय के पद पर नियुक्ति दी गई है। इसी तरह से विनोद कुमार गुर्जर, मनोज कुमार, अभिषेक उदावत, अंकुर ठाकुर, मक्खन गुर्जर, शिव कुमार, दुर्गेश कुमार, नाथू लाल मीणा को सहायक प्रथम के पद पर व विजय कुमार, महेन्द्र कुमार, खिलाड़ी लाल, भेरु लाल को सहायक द्वितीय के पद पर नियुक्ति दी गई है। पार्वती बाई, रशीदा, हरपी देवी मीना व गुड्डी देवी को चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद पर नियुक्ति दी गई है।

 

सभी को दो वर्ष की परीवीक्षाकाल अवधि पर अस्थाई नियुक्ति दी गई है। परीवीक्षाकाल अवधि के दौरान इनको नियत मासिक पारिश्रमिक देय होगा तथा परिवीक्षाकालावधि सफलतापूर्वक पूरी करने पर इन्हे निर्धारित वेतनमान अनुज्ञाप्त किया जाएगा।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned