प्रदेशभर के कॉलेजों की होगी ऑडिट, सत्र के अंतिम दिन तक पूरा करना होगा काम

12 मार्च से शुरू होगा प्रथम चरण, 130 बिन्दुओं की होगी ऑडिट, एनुअल ऑडिटिंग प्रोग्राम के तहत होगी जांच

By: MOHIT SHARMA

Published: 01 Mar 2020, 08:47 AM IST

जयपुर। राज्य के सभी सरकारी कॉलेजों पर अब सरकार की नजर रहेगी, इसके लिए कॉलेजों की ऑडिट की जाएगी। एनुवल ऑडिटिंग प्रोग्राम के तहत कॉलेजों की ऑडिट होगी। इसमें करीब 130 बिन्दुओं की जांच होगी। पहला चरण 12 मार्च से शुरू होगा इसमें 32 कॉलेज होंगे, इसके बाद दूसरा चरण 19 मार्च से शुरू होगा। इस वार्षिक ऑडिट के आधार पर कॉलेजों की रिपोर्ट राज्य सरकार को भेजी जाएगी। ऑडिट का काम सभी कॉलेजों को इस अकादमिक सत्र के अंतिम दिन पर पूरा करना होगा। करीब 130 बिन्दुओं की ऑडिट होगी, इसके लिए हरेक का डाक्यूमेंट प्रुफ भी देना होगा।

इनकी होगी ऑडिट
कॉलेज आयुक्त प्रदीप कुमार बोरड़ ने बताया कि प्रदेश के सभी कॉलेजों की ऑडिट की जाएगी, इसमें सभी बिन्दुओं की जांच होगी। सभी कॉलेजों को यह कराना जरूरी है। इसमें विद्यार्थियों की संख्या, वर्गवार संख्या, फैकल्टी, विद्यार्थियों में सीखने की स्थिति, विज्ञान लैब, आईसीटी लैब, टॉयलेट, गर्ल कॉमन रूम, स्टाफ रूम, कॉलेज भवन, लैग्वेज लैब, स्मार्ट क्लास रूम, लाइब्रेरी, दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए रैंप, रेमेडियल क्लास की स्थिति, कॉलेज में एनएसएस, एनसीसी यूनिट के बारे में भी जानकारी देनी होगी। इसके साथ ही कम्प्यूनिटी बुक बैंक में किताबों की संख्या, कॉलेज में होने वाली सभी गतिविधियों के बारे में बताना होगा।

MOHIT SHARMA
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned