आदेश की पालना हो अन्यथा निदेशक चिकित्सा हाजिर हों-हाईकोर्ट

(Rajasthan Highcourt) हाईकोर्ट ने (APO) पदस्थापन की प्रतीक्षा में चल रहे एक (Doctor) डॉक्टर को (Sonography course) सोनोग्राफी कोर्स में (Admission) प्रवेश होने के बावजूद (relive) रिलीव करने के अदालती आदेश की (compliance) पालना करने अन्यथा (DMHS) निदेशक चिकित्सा व स्वास्थ्य डॉ.के.के.शर्मा को 8 जून को (Personally appear) व्यक्तिगत तौर पर हाजिर होने के निर्देश दिए हैं।

By: Mukesh Sharma

Published: 04 Jun 2020, 08:52 PM IST

जयपुर
(Rajasthan Highcourt) हाईकोर्ट ने (APO) पदस्थापन की प्रतीक्षा में चल रहे एक (Doctor) डॉक्टर को (Sonography course) सोनोग्राफी कोर्स में (Admission) प्रवेश होने के बावजूद (relive) रिलीव करने के अदालती आदेश की (compliance) पालना करने अन्यथा (DMHS) निदेशक चिकित्सा व स्वास्थ्य डॉ.के.के.शर्मा को 8 जून को (Personally appear) व्यक्तिगत तौर पर हाजिर होने के निर्देश दिए हैं। न्यायाधीश महेन्द्र गोयल ने यह अंतरिम निर्देश डॉ.शिंटू कुमावत की अवमानना याचिका पर दिए।
एडवोकेट सलीम खान ने कोर्ट को बताया कि याचिकाकर्ता नाथद्वारा में मेडिकल आॅफिसर के पद पर तैनात था। सरकार ने उसका तबादला अन्यत्र कर दिया था,लेकिन उसने नए स्थान पर पदभार ग्रहण नहीं किया तो विभाग ने उसे पदस्थापन की प्रतीक्षा में रखते हुए निदेशक चिकित्सा व स्वास्थ्य के अधीन जयपुर में रख दिया था। इसी दौरान उसका एसपी मेडिकल कॉलेज उदयपुर में सोनोग्राफी कोर्स में प्रवेश हो गया,लेकिन विभाग ने उसे रिलीव नहीं किया। प्रतिवेदन देने के बावजूद उसकी सुनवाई नहीं हुई तो उसने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। 4 मार्च,2020 को कोर्ट ने अंतरिम आदेश में याचिकाकर्ता को कोर्स में प्रवेश लेने के लिए रिलीव करने के आदेश दिए,लेकिन विभाग ने इस आदेश की भी पालना नहीं की। इस पर याचिकाकर्ता ने अवमानना याचिका दायर की और विभाग की ओर से पालना के लिए दो बार समय लेने के बावजूद भी अब तक अदालती आदेश की पालना नहीं की गई है। इस पर कोर्ट ने आदेश की पालना करने अन्यथा चिकित्सा निदेशक के.के.शर्मा को 8 जून को व्यक्तिगत तौर पर हाजिर होकर कारण स्पष्ट करने को कहा है।

Mukesh Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned