Confetti Gifts: दो साल में पचास हजार से पांच करोड़ का सफर

जयपुर के एक ओर स्टार्टअप ( startup of india ) ने देशभर में अपनी अलग पहचान बनाई है। सौम्या काबरा के ऑनलाइन गिफ्ट प्लेटफॉर्म ( online gift ) कॉन्फेटी गिफ्ट्स ( Confetti Gifts ) की डिमांड देश में ही विदेशों में भी बढ़ रही है। कंपनी ने दो साल में ही पांच करोड़ का कारोबार कर लिया है और इस साल के अंत तक कारोबार दस करोड़ तक पहुंचने की संभावना है।

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 11 Sep 2021, 02:47 PM IST

जयपुर। जयपुर के एक ओर स्टार्टअप ने देशभर में अपनी अलग पहचान बनाई है। सौम्या काबरा के ऑनलाइन गिफ्ट प्लेटफॉर्म कॉन्फेटी गिफ्ट्स की डिमांड देश में ही विदेशों में भी बढ़ रही है। कंपनी ने दो साल में ही पांच करोड़ का कारोबार कर लिया है और इस साल के अंत तक कारोबार दस करोड़ तक पहुंचने की संभावना है। कॉन्फेटी गिफ्ट्स में 200 से ज्यादा वैरायटी के प्रोडक्ट उपलब्ध हैं। कंपनी को अभी हर महीने करीब 5 हजार से ज्यादा ऑर्डर देश-विदेश से मिल रहे हैं।
राघव प्रोडक्टिविटी की सहयक कंपनी
कॉन्फेटी गिफ्ट्स, मेटल्स एंड माइनिंग कंपनी राघव प्रोडक्टिविटी एन्हांसर्स की सहायक कंपनी है। राघव प्रोडक्टिविटी में हाल ही में दिग्गज निवेश राकेश झुनझुनवाला ने निवेश किया था। राघव प्रोडक्टिविटी के प्रोमोटर्स राजेश काबरा एंव संजय काबरा है।
इस साल दस करोड़ के कारोबार का लक्ष्य
लंदन से मास्टर्स की पढ़ाई करने वाली कॉन्फेटी गिफ्ट्स की निदेशक सौम्या काबरा ने बताया कि यहां लोग हर तरह के अवसर के हिसाब से गिफ्ट आइटम्स सिलेक्ट और डिजाइन कर सकते हैं और अपने दोस्तों या रिश्तेदारों को भेज सकते हैं। कंपनी ने दो साल के अंदर पूरे भारत में अपनी पहुंचा बना ली है। अमेरिका, इंग्लैंड, दुबई सहित कई देशों से ऑर्डर्स आ रहे हैं। कंपनी का वर्तमान में पांच करोड़ रुपए का कारोबार है, जिसे इस साल 10 करोड़ रुपए करने का लक्ष्य है। सौम्या ने बताया कि साल 2019 में 50 हजार रुपए से इस स्टार्टअप की शुरुआत की गई थी।
मौजूद प्रोडक्ट्स से बेहतर और क्रिएटिव लुक
सौम्या ने बताया कि शुरुआत में मैंने खुद कुछ गिफ्ट बॉक्स और मॉडल डिजाइन किए। मार्केट में मौजूद प्रोडक्ट्स के मुकाबले उन्हें बेहतर और क्रिएटिव लुक दिया। इसके बाद एक वेबसाइट तैयार की और अपने प्रोडक्ट की फोटो उस पर अपलोड की। सोशल मीडिया की मदद से देशभर से ऑर्डर आने लगे।
कोरोना ने बदल दिया कारोबार
कोरोना ने बढ़ाई परेशानी सौम्या ने बताया कि कोरोना से कारोबार को काफी नुकसान हुआ। लॉजिस्टिक सुविधाएं बंद होने के साथ ही कई तरह की दिक्कतें आई, लेकिन इसका एक बड़ा फायदा हुआ कि हमें एक बेहतर मार्केट मिल गया। लोग तेजी से ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर शिफ्ट हुए। लॉकडाउन के चलते जो लोग बाहर दुकानों पर नहीं जा पा रहे थे उन्होंने ऑनलाइन गिफ्ट आइटम्स की तलाश करनी शुरू की। सौम्या ने बताया कि अमेजन, मिंत्रा, उबर जैसे बड़े कॉर्पोरेट हाउसेज भी हमारे ग्राहक हो गए।
ग्राहकों को गिफ्ट चुनने और डिजाइन करने की सुविधा
कंपनी ग्राहकों को खुद की पसंद के मुताबिक गिफ्ट चुनने और उसे डिजाइन करने की सुविधा देता हैं। इसमें कस्टमर्स खुद ही अपने पसंद की चीजें सिलेक्ट कर सकता है, उसे डिजाइन और क्रिएट कर सकता है। उसकी पैकेजिंग और ग्रीटिंग कार्ड पर लिखे जाने वाले मैसेज भी वह खुद ही तैयार कर सकता है। कंपनी ने कई मैन्युफैक्चर से टाइअप किया है। कंपनी ग्राहकों को मन मुताबिक डिलीवरी डेट सिलेक्ट करने का विकल्प भी देती हैं। गिफ्ट की शुरुआती कीमत 1000 रुपए हैं। उनके साथ 26 लोगों की टीम काम कर रही है।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned