कांग्रेस के भारत बंद का दिखा मिला-जुला असर

Firoz Khan Shaifi | Publish: Sep, 10 2018 01:09:04 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

पेट्रोल-डीजल की दरों में लगातार वृद्धि के विरोध में कांग्रेस का भारत बंद

जयपुर। पेट्रोल-डीजल की दरों में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी के विरोध में आज कांग्रेस के भारत बंद का मिलाजुला असर देखने को मिल रहा है। सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे बंद रखा गया है। प्रदेश के सभी जिलों में आज सुबह नौ बजते ही कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता टोलियों के रूप में बाजारों और सड़कों पर निकल गए और व्यापारियों से बंद में सहयोग की अपील करते दिखे। हालांकि बंद से आवश्यक सेवाओं स्कूल, अस्पताल और कॉलेजों को बंद से बाहर रखा गया था।

राजधानी जयपुर में भी कांग्रेस कार्यकर्ता बंद कराने के लिए टोलियों में निकल गए। शहर के बनीपार्क, मालवीय नगर, राजपार्क, शास्त्री नगर, छोटी-बड़ी चौपड़, रामगंज, त्रिपोलिया बाजार, चौड़ा रास्ता, चांदपोल, झोटवाड़ा और सांगानेर इलाकों में कांग्रेस कार्यकर्ता लोगों से बंद में सहयोग करने की अपनी करते दिखे।

इस दौरान जहां कई व्यापारियों ने कांग्रस कार्यकर्ताओं के आग्रह पर अपने प्रतिष्ठान बंद कर दिए, वहीं कई दुकानदारों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस नेताओं का दावा है कि शहर के अधिकांश व्यापार मंडलों ने रविवार को ही बंद को समर्थन दे दिया था।


कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सख्त हिदायत
वहीं दूसरी ओर बंद के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं को सख्त आदेश प्रदेश कांग्रेस की ओर दिए गए थे। कार्यकर्ताओं को निर्देश दिए गए है कि किसी भी प्रकार हिंसा या लड़ाई झगड़े से दूर रहना है, जनता से हाथ जोड़कर निवेदन कर बंद में सहयोग करने के लिए कहा गया है।

 

साथ ही अगर कोई दुकानदार अपना प्रतिष्ठान खोलता है बंद कराने के लिए उसके साथ जोर जबरदस्ती न की जाए। इससे पहले रविवार को दिनभर शहर के सभी इलाकों में कांग्रेस कार्यकर्ता टोलियों में घूम-घूमकर लोगों से बंद में सहयोग करने की अपील करते दिखे।


शहर अध्यक्ष ने लिया बंद का जायजा
वहीं दूसरी ओर शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रताप सिंह खाचरियावास कार्यकर्ताओं के साथ शहर के अलग-अलग इलाकों में बंद का जायजा लेते नजर आए। इस दौरान व्यापारियों से भी वे अपने प्रतिष्ठान बंद रखने का अपील करते रहे। उधर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में प्रदेश के सभी जिलों में बंद के असर का फीडबैक जिलाध्यक्षों और प्रभारियों से लेते रहे।


हमारे दबाव में उठाया सरकार ने कदम
वहीं अपने निवास पर मीडिया से बातचीत करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि राज्य सरकार ने हमारे दबाव में आकर पेट्रोल-डीजल पर से 4 प्रतिशत वैट कम किया है,लेकिन ये नाकाफी है, ये ऊंट के मुंह में जीरा के समान है, इससे जनता को कोई राहत मिलने वाली नहीं है। कांग्रेस चाहती है कि केंद्र सरकार एक्साइज ड्यूटी कम कर जनता को राहत दे।पायलट ने जनता से भी अपील की कि ये बंद जनता के हित में कराया गया है, अतः जनता को इसमें सहयोग करे।


पुलिस के तगड़े बंदोबस्त
वहीं कांग्रेस के बंद को देखते हुए राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के सभी जिलों में पुलिस ने तगड़े बंदोबस्त किए हैं, संवेदनशील जगहों पर पुलिस का अतिरिक्त जाब्ता लगाया गया है। बंद के दौरान हुड़दंग और तोड़फोड़ करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा।

अधिकांश स्कूल खुले
वहीं दूसरी ओर बंद से स्कूल-कॉलेजों और अस्पतालों को बाहर रखा गया था, इसका असर देखने को भी मिला, कुछेक स्कूलों को छोड़कर शहर के अधिकांश स्कूल खुले नजर आए। वहीं निजी और सरकारी कॉलेजों भी खुले रहे।

खड़ी मालगाड़ी के सामनेप्रदर्शन
वहीं दूसरी ओर राजधानी के टोंक फाटक पर खड़ी मालगाड़ी के समक्ष कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेता अर्चना शर्मा के नेतृ्त्व में कार्यकर्ता रेलवे ट्रेक पर बैठ गए और केंद्र और राज्य की भाजपा सरकारों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। करीब10 मिनट नारेबाजी करने के बाद कार्यकर्ता रेलवे ट्रेक से उठ गए।

इन व्यापार संघों ने दिया समर्थन
कांग्रेस की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक कांग्रेस के भारत बंद को न्यू सांगानेर व्यापार मण्डल, एमआई रोड़ व्यापार मण्डल, फोर्टी संगठन, राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन, कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इण्डिया ट्रेडर्स, विश्वकर्मा इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन, स्टील मर्चेट एसोसिएशन, आयरन स्क्रेप डीलर्स एसोसिएशन, जैतपुरा इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन, सीतापुरा इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन, जयपुर व्यापार महासंघ, राजस्थान ट्रक टांसपोर्ट एसोसिएशन, अग्रवाल समाज सेवा समिति, कालाडेरा इण्डस्ट्रीज डवलपमेंट एसोसिएशन, सर्व ब्राह्मण महासभा, चमन बाड़ी विकास समिति, अखिल भारतीय जांगिड़ ब्राह्मण महासभा, श्री राजपूत करणी सेना, शिव विहार विकास समिति, जयपुर नागरिक समिति सहित 300 से अधिक व्यापारिक संगठनों, ट्रेड यूनियनों, नागरिक समितियों ने समर्थन दिया है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned