scriptCongress BJP familism on Lok Sabha Election in Rajasthan | Rajasthan News : लोकसभा चुनाव के लिए अब 'पापा-मम्मी' को नहीं, 'बेटे-बेटियों' को मिलेगा टिकट! | Patrika News

Rajasthan News : लोकसभा चुनाव के लिए अब 'पापा-मम्मी' को नहीं, 'बेटे-बेटियों' को मिलेगा टिकट!

locationजयपुरPublished: Jan 27, 2024 10:14:17 am

Submitted by:

Nakul Devarshi

Lok Sabha Election : लोकसभा चुनाव में परिवारवाद की झलक- नेताओं के परिवारजन मांग रहे टिकट, 6 से ज्यादा नेताओं के परिजन ने टिकट पाने के लिए शुरू की लॉबिंग,
विधानसभा चुनाव हारे कई नेताओं के पुत्र-पुत्री भी कर रहे दावेदारी

Congress BJP familism on Lok Sabha Election in Rajasthan

विधानसभा चुनाव के बाद अब लोकसभा चुनाव में भी परिवारवाद की झलक देखने को मिल सकती है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कांग्रेस में चुनावी तैयारियां शुरू होने के साथ टिकट पाने के लिए नेताओं के पुत्र-पुत्रियों व अन्य परिवारजनों ने भी दावेदारी शुरू कर दी है।

कांग्रेस में करीब एक दर्जन से ज्यादा नेताओं के परिजन टिकट के लिए जयपुर लेकर दिल्ली तक लॉबिंग कर रहे हैं। इनमें कई नेता पुत्र और पुत्री भी दावेदारी जता रहे हैं, जिन्हें हाल ही विधानसभा चुनाव के दौरान हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि पार्टी नेता खुलकर तो परिवारजनों की दावेदारी का समर्थन नहीं कर रहे हैं, लेकिन अंदरखाने जिताऊ चेहरे के तौर पर इनके नाम आगे बढ़ा रहे हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले विधानसभा चुनाव में भी बड़े नेताओं ने अपने रिश्तेदारों के लिए टिकट मांगे थे। हालांकि कई जगह उनकी मांग पूरी नहीं हो पाई।


ये भी पढ़ें : कैबिनेट मंत्री मदन दिलावर आखिर किनके सामने आते ही अचानक हो गए 'नतमस्तक'?

नेता... पुत्र/पुत्री... यहां से कर रहे दावेदारी

हरेंद्र मिर्धा, विधायक... रघुवेंद्र मिर्धा... नागौर


बद्री जाखड़, पूर्व सांसद... मुन्नी देवी... पाली

महिपाल मदेरणा, पूर्व मंत्री... दिव्या मदेरणा... पाली

ममता शर्मा, पूर्व मंत्री... समर्थ शर्मा... कोटा-बूंदी

अबरार अहमद, पूर्व सांसद... दानिश अबरार... टोंक-सवाई माधोपुर

राजकुमार शर्मा, पूर्व मंत्री... राजपाल (भ्राता)... जयपुर शहर



ये भी पढ़ें : आरएलपी एमएलए Hanuman Beniwal को जान का खतरा, घर के बाहर हथियारबंद कमांडोज़ तैनात


इनको मिली हार

इधर जो नेता पुत्र-पुत्री विधानसभा चुनाव हारे हैं उनमें प्रशांत बैरवा, दानिश अबरार, दिव्या मदेरणा, चेतन डूडी जैसे नाम हैं। प्रशांत के पिता डीपी बैरवा टोंक से सांसद रहे चुके हैं। दानिश के पिता भी सांसद और केंद्र में मंत्री रहे चुके हैं, दिव्या के पिता महिपाल मदेरणा पार्टी के कद्दावर नेता रह चुके हैं। चेतन डूडी के पिता रूपाराम डूडी भी विधायक रह चुके हैं। चारों ही साल 2018 में हुए विस चुनाव में चुनाव जीतकर विधायक बने थे, लेकिन इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

ट्रेंडिंग वीडियो