Congress के अच्छे दिन लौटाएंगे गांधी-नेहरू!

कांग्रेस पार्टी (Congress ) को अच्छे दिन की तलाश है, पिछले साल तीन राज्यों राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ में कांग्रेस की सरकारें आई तो पार्टी को लगा कि उसके अच्छे दिन आएंगे। लेकिन चार माह बाद ही जब लोकसभा के चुनाव हुए तो कांग्रेस राष्ट्रवाद की आंधी में ऐसी उड़ी कि 52 सीटों पर सिमट कर रह गई।

Rahul Singh

November, 1501:06 PM

जयपुर

कांग्रेस पार्टी (Congress ) को अच्छे दिन की तलाश है, पिछले साल तीन राज्यों राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ में कांग्रेस की सरकारें (Congress Government )आई तो पार्टी को लगा कि उसके अच्छे दिन आएंगे। लेकिन चार माह बाद ही जब लोकसभा के चुनाव हुए तो कांग्रेस राष्ट्रवाद की आंधी में ऐसी उड़ी कि 52 सीटों पर सिमट कर रह गई। यहां तक कि इन तीन राज्यों में भी पार्टी कुछ नहीं कर सकी। अब एक बार दुबारा से पार्टी खड़ा होना चाहती है और इसके लिए सहारा लिया है गांधी और नेहरू का। कांग्रेस पार्टी अब इन दोनों नेताओं के काम, इनके विचार और आदर्श युवा पीढी को बताएगी ताकि युवा पीढी कांग्रेस की ओर आकर्षित हो सके। सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot ) ने इसकी शुरुआत भी कर दी है।

गहलोत ने गांधी और नेहरू को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा और आरएसएस पर निशाना भी साधा और प्रहार कर डाले। गहलोत ने कहा कि खाली पीएम की बात नहीं है। पूरी भाजपा और आरएसएस ने सोच-समझकर कर पं. नेहरू पर प्रहार किए। कांग्रेस के प्रति देश में लीगेसी बनी है। कांग्रेस को कमजोर करने के लिए कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले लोगों ने ये प्रहार किया, ताकि देश से लोकतंत्र समाप्त हो जाए।

गहलोत यही नहीं रुके, उन्होंने कहा कि आज भय, आतंक और अविश्वास का माहौल बन चुका है। कांग्रेस चाहेगी की सोनिया गांधी के नेतृत्व में इसे समाप्त किया जाए और यह अभियान चल पड़ा है। इनको एक्सपोज करने का काम शुरू हो गया है। वरना पता नहीं देश किस दिशा में जाएगा।


गहलोत ने कहा कि नेहरू बहुत बड़ी हस्ती थी। इस हस्ती को मिटाने का षड्यंत्र किया गया था। उसकी आज धज्जियां उड़ गई है। उन्होंने कहा कि तुच्छ बुद्धि के लोग हैं देश में, जिनको ज्ञान ही नहीं है कि पं.नेहरू थे क्या। उनकी हस्ती को मिटाने वाले मिट जाएंगे। उनका कृतित्व, व्यक्तित्व अमर रहेगा।

गहलोत ने पं. नेहरू के बारे में नई पीढ़ी को जानकारी देने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि सरकार यह काम कर रही है। जिससे आने वाली पीढ़ी है वो उन्हें सही परिप्रेक्ष्य में समझ सके और उसे आत्मसात कर सके। वरना इतिहास को तोड़-मरोड़ोगों तो 25 साल बाद क्या तस्वीर बदलेगी कोई सोच-समझ नहीं सकत। ऐसी शक्ति जिसका लोकतंत्र में यकीन नहीं है। जो नौजवान पीढ़ी को गुमराह कर रही है। सोश्यल मीडिया के माध्यम से नई पीढ़ी को गुमराह कर रही है।


उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि नेहरू ने देश की दिशा तय करने में जो अहम भूमिका निभाई वो इतितहास के पन्नों में सदा लिखी जाएगी। समय के साथ-साथ कुछ लोग अलग सोच बनाकर उसका विरोध अब कर सकते हैं। उनके बारे में आज कोई मिथ्या पैदा करता है तो वो देश के साथ न्याय नहीं कर रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned