10 हज़ार करोड़ के ‘स्कैम’ में राजस्थान कांग्रेस MLA पर FIR, भाजपा उठा रही इस्तीफे की मांग

10 हज़ार करोड़ के नोएडा बाइक-बोट घोटाला मामला, कांग्रेस विधायक जोगिन्द्र सिंह अवाना का नाम आया सामने, अदालत के निर्देश पर पुलिस ने दर्ज की एफआईआर, भाजपा ने विधायक के इस्तीफे की उठाई मांग, हज़ारों लोगों से करोड़ों की ठगी से जुड़ा है घोटाला

 

By: nakul

Published: 02 Dec 2020, 12:56 PM IST

जयपुर।

नोएडा के 10 हज़ार करोड़ के चर्चित बाइक-बोट घोटाले में राजस्थान कांग्रेस विधायक जोगिन्दर सिंह अवाना का नाम आने पर भाजपा ने उनके इस्तीफे की मांग उठाई है। पार्टी ने विधायक अवाना को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देने की मांग की है। भाजपा का मानना है कि जब तक इस करोड़ों के घोटाला मामले पर संबंधित एजेंसियां जांच नहीं कर लेती तब तक कांग्रेस विधायक को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।

गौरतलब है कि अवाना नदबई से विधायक हैं। बसपा के टिकट पर जीतकर विधायक बने अवाना पांच अन्य विधायकों के साथ कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए थे। पिछले दिनों ही उन्हें मध्य प्रदेश के उपचुनाव के दौरान मुरैना जिले की जौरा विधानसभा क्षेत्र का पर्यवेक्षक भी बनाया गया था।

'राज्य सरकार करे कार्रवाई'
प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने इस मामले में कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ये मानकर चलती है कि उनकी पवित्र गंगा के अंदर जो भी डुबकी लगाएगा, वो पाक साफ़ हो जाएगा। पर 10 हजार करोड़ के बाइक बोट घोटाले में कांग्रेस विधायक का नाम आने के बाद राज्य सरकार को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। साथ ही विधायक अवाना को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देना चाहिए।

अवाना पर एफईआर दर्ज
10 हजार करोड़ रूपये के बाइक बोट घोटाला में नोएडा जिला न्यायालय के आदेश के बाद विधायक जोगिन्दर अवाना सहित कुल 58 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है। दादरी थाने में पुलिस ने सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 58 आरोपियों में यूपी, एमपी, दिल्ली सहित कई जिले और शहरों के लोग भी शामिल हैं। जांच में कई अन्य बड़े राजनीतिक पार्टियों के बड़े नेताओं के नाम भी उजागर हो सकते हैं।

ये है मामला
बाइक बोट कंपनी के संचालक संजय भाटी सहित कई लोगों पर बाइक-टैक्सी चलाने के नाम पर मोटी रकम लेने और एक वर्ष में दोगुना करने का लालच देकर करोड़ों की ठगी करने का आरोप है। अदालत के आदेश पर दादरी में बीती रात यानि शनिवार को मुकदमा दर्ज हुआ है। इस मामले में राजस्थान के नंदबई से विधायक जोगिन्दर सिंह अवाना सहित 58 लोगों का नाम हैं। बताया जाता है कि बाइक बोट घोटाले का मुख्य कर्ताधर्ता संजय भाटी विधायक जोगिन्दर अवाना का नजदीकी है।

नोएडा के 10 हज़ार करोड़ के चर्चित बाइक-बोट घोटाले में राजस्थान कांग्रेस विधायक जोगिन्दर सिंह अवाना का नाम

फर्जीवाड़े से मेरा कोई लेना देना नहीं: विधायक जोगिंदर अवाना
विधायक जोगिन्दर अवाना ने कहा कि संजय भाटी, बहुजन समाज पार्टी का गौतमबुद्ध नगर लोकसभा प्रभारी रहा है, तब वह पार्टी के कार्यक्रमों में मेरे साथ शिरकत करता था। इसके अलावा बाइक बोट कंपनी या उसके फर्जीवाड़े से मेरा कोई लेना देना नहीं है। केस दर्ज के संबंध में भी मुझे कोई जानकारी नहीं है।

बाइक बोट घोटाला, ख़ास बातें
- केमिकल इंजीनियर संजय भाटी ने वर्ष 2010 में गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड का गठन किया
- फरवरी, 2018 में बाइक बोट के नाम से एक स्टार्टअप शुरू किया
- बाइक बोट घोटाले में कंपनी ने स्कीम शुरू की। इस स्कीम से जुडऩे वाले लोग 62,100 रुपए का निवेश करते थे। उसके एवज में कम्पनी हर माह 9,765 रुपए की कमाई का लालच देती थी।
- स्कीम में अधिक से अधिक निवेश करवाने पर निवेशक को महंगी गाडिय़ां और महंगे तोहफे भी दिए जाते थे।
- लालच में फंस कर लोग खुद तो निवेश करते थे, अन्य लोगों का भी पैसा इस योजना में निवेश करा देते थे।
- उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, बिहार, मध्य प्रदेश, सहित देश के कई राज्यों से पांच लाख से अधिक निवेशकों ने इस कंपनी में पैसे लगाए थे।
- मामले में सिर्फ नोएडा में करीब 50 मुकदमे दर्ज हैं, जबकि देश के विभिन्न जगहों पर 500 मामले दर्ज हो चुके हैं।
- कंपनी के मालिक संजय भाटी, सचिन भाटी, पवन भाटी, आदेश भाटी, राजेश भारद्वाज, करण पाल, दीप्ति बहल, विजयपाल कसाना आदि ने निवेशकों से हजारों करोड़ रुपए जुटाए और फरार हो गए
- देशभर में करीब 2.25 लाख निवेशकों से करीब 10 हज़ार करोड़ रुपए की ठगी करने का आरोप है

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned