ऐसा नहीं किया तो नहीं दे सकेंगे मेयर के लिए वोट

ऐसा नहीं किया तो नहीं दे सकेंगे मेयर के लिए वोट

Rahul Singh | Updated: 14 Aug 2019, 09:48:19 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर नगर निगम सहित प्रदेश के 52 नगर निकायों में होने वाले चुनावों की तैयारियां शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही मतदाता सूचियों के लिए भी काम शुरू हो गया है और एक जनवरी 2019 तक 18 वर्ष के होने वाले युवा मतदाता सूची में नाम जुडवा सकते है। यदि आपका नाम मतदाता सूची में नहीं है तो जुडवां लें अन्यथा आप वोट नहीं दे सकेंगे। नगर निकाय चुनाव नवंबर के मध्य में होने है।


जयपुर नगर निगमjaipur nagar nigam सहित प्रदेश के 52 नगर निकायों में होने वाले चुनावों की तैयारियां शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही मतदाता सूचियों voterlistके लिए भी काम शुरू हो गया है और एक जनवरी 2019 तक 18 वर्ष के होने वाले व्यक्ति मतदाता सूची में नाम जुडवा सकते है। यदि आपका नाम मतदाता सूची में नहीं है तो जुडवां लें अन्यथा आप वोट नहीं दे सकेंगे। नगर निकाय चुनाव नवंबर के मध्य में होने है।

राज्य निर्वाचन आयोग state election commisionकी ओर से निकाय चुनाव के लिए मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण का कार्य शुरू किया जाएगा। एक जनवरी 2019 की तिथि के आधार पर मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण का कार्य होगा। निर्वाचन आयोग की ओर से 7 सितम्बर 2019 को मतदाता सूचियों का प्रारूप प्रकाशन किया जाएगा। इसके बाद 7 सितंबर से 16 सितम्बर तक दावे एवं आपत्तियां दाखिल की जा सकती है। इसी के लिए 14 तथा 15 सितम्बर को विशेष अभियान भी चलाया जाएगा। आयोग के अनुसार दावों तथा आपत्तियों का निपटारा 24 सितम्बर तक हो सकेगा। इसी प्रकार पूरक सूचियों की तैयारी के लिए 7 अक्टूबर तक का समय निर्धारित किया गया है। इसके बाद मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन 11 अक्टूबर को किया जाएगा।

आयोग के निर्देशों के अनुसार एक जनवरी 2019 की अर्हता तिथि मानकर नए मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में जोड़ा जाएगा। इस तिथि तक 18 वर्ष की आयु पूरी करने वाले व्यक्ति मतदाता सूचि में नाम जुड़वाने के पात्र होंगे। आपकों बता दें कि राज्य के 25 जिलों अजमेर,बीकानेर, भरतपुर, जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा, अलवर, बांसवाडा, बाडमेर, बारां, चित्तौड़गढ़, चूरू, दौसा, हनुमानगढ़, जैसलमेर, जालौर, झुंझुनू, नागौर, पाली, राजसमंद, सीकर, श्रीगंगानगर, सिरोही एवं टोंक के 52 नगर निकायों में चुनाव होंगे। इनमें 6 नवगठित नगरपालिकाएं शामिल हैं।इस बार मतदाता को दो वोट देने पडेंगे। कांग्रेस सरकार ने तय किया है कि मेयर, सभापति और अध्यक्ष का चुनाव भी सीधे जनता ही करेगी। इसके साथ ही जनता को अपने वार्ड पार्षद को भी वोट देना होगा। पिछली भाजपा सरकार में मेयरmayer, सभापति और अध्यक्ष का चुनाव सीधे जनता ही करती थी। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में जनता से वायदा किया था कि वह सीधे चुनाव कराएंगे। इसके बाद गहलोत सरकार gehlot sarkar ने इसमें फेरबदल कर दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned