कांग्रेस में 110 सीटों पर सिंगल नाम तय, 25 फीसदी नए चेहरे

firoz shaifi | Publish: Oct, 13 2018 01:29:25 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

15 से दिल्ली में लगेगा टिकटार्थियों का जमावड़ा ,माह के आखिरी सप्ताह में आएगी पहली लिस्ट

फिरोज सैफी

जयपुर। प्रदेश में दो माह बाद होने जा रहे विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी चयन की कवायद अंतिम दौर है। टिकट चयन के लिए बनी स्क्रीनिंग कमेटी पार्टी नेताओं के साथ लगातार मैराथन बैठकें कर दावेदारों के नामों पर मंथन कर जिताऊ उम्मीदवारों को खोज रही है। पार्टी का प्रयास है कि 10 नवंबर तक सभी 200 सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जाए। पार्टी के जानकार सूत्र बताते हैं कि गुरूवार को स्क्रीनिंग कमेटी की दिल्ली में वरिष्ठ नेताओं के साथ 9 घंटे तक चली लंबी बैठक में 110 सीटों पर सिंगल नाम तय कर दिए गए हैं।

गुरूद्वारा रकाब गंज स्थित पार्टी के वॉर रूम में चली बैठक में स्क्रीनिंग कमेटी की चेयरमैन कुमारी शैलजा, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, कांग्रेस के संगठन महामंत्री अशोक गहलोत, पीसीसी चीफ सचिन पायलट, भंवर जितेंद्र सिंह, सह प्रभारी विवेक बंसल, काजी निजाम, देवेन्द्र यादव और तरुण कुमार भी मौजूद थे।


110 सीटों पर 25 फीसदी नए चेहरे
सूत्रों की माने तो 110 सीटों पर 25 फीसदी उम्मीदवार नए चेहरे हैं,साथ ही इनमें महिलाओं और युवा प्रत्याशियों के नाम भीहैं। बताया जाता है कि कुछ नाम ऐसे भी थे जिन्हें लेकर पार्टी के दो बड़े नेताओं के बीच खींचतान भी हुई, आम सहमति नहीं बनने के चलते उन नामों को पेंडिंग लिस्ट में डाल दिया गया है।


सीईसी में लगेगी मुहर
जिन 110 सीटों पर सिंगल नाम तय किए गए हैं उस सूची पर अब सेंट्रल इलेक्शन कमेटी (सीईसी) की बैठक में मुहर लगेगी। सूची में अधिकांश वर्तमान विधायकों और पार्टी के दिग्गज नेताओं के नाम भी शामिल हैं। बताया जाता है कि राजस्थान को लेकर सीईसी की बैठक जल्दी ही हो सकती है। पार्टी के विश्वस्त सूत्रों की माने तो पार्टी माह के आखिर में 100 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी हो सकती है।


15 से दिल्ली में टिकटार्थियों का जमावड़ा
वहीं दूसरी ओर 15 अक्टूबर के बाद से दिल्ली में प्रत्याशी चयन की कवायद और तेज हो जाएगी। स्क्रीनिंग कमेटी ने भी इसके संकेत दिए थे, जिसके बाद से माना जा रहा है, पार्टी तमाम नेताओं के साथ टिकटार्थी भी दिल्ली में डेरा डाल लेंगे।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned