कामगारों के लिए कांग्रेस का महाभियान आज, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बुलंद होगी आवाज

इनकम टैक्स नहीं देने वाले लोगों को 10 हजार रुपए देने की मांग के समर्थन में अभियान ,सुबह 11 बजे 2 बजे तक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए होगी केंद्र सरकार से मांग

By: firoz shaifi

Updated: 28 May 2020, 10:37 AM IST

जयपुर। कोरोना संकट के बीच असंगठित मजदूरों, इनकम टैक्स नहीं देने वाले लोगों को 10 हजार रुपए देने की मांग कांग्रेस पार्टी ने तेज कर दी है। इसी मांग के समर्थन में आज देशभर में कांग्रेस कार्यकर्ता, नेता, सांसद, विधायक, तमाम जनप्रतिनिधि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करेंगे।

फेसबुक, वाट्सअप, इंस्टाग्राम, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कांग्रेस जन लाइव वीडियो के जरिए केंद्र की मोदी सरकार से मांग करेंगे कि असंगठित मजदूरों और इनकम टैक्स नहीं देने वाले लोगों को 10 हजार रुपए दिए जाएं, साथ ही मनरेगा में प्रवासी मजदूरों को 200 दिन का रोजगार भी दिया जाए।


प्रदेश में बड़े स्तर पर अभियान
वहीं प्रदेश में भी आज बड़े स्तर पर अभियान चलेगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, मंत्रिमंडल के सदस्य, विधायक,सांसद, जिलाध्यक्ष, अग्रिम संगठनों के पदाधिकारी अपने-अपने फेसबुक, वाट्सअप, इंस्टाग्राम, ट्विटर एकाउंट पर जाकर मोदी सरकार से लाइव जाकर मांग करेंगे।

ये अभियान सुबह 11 बजे से 2 बजे तक चलेगा। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए प्रत्येक राज्य में कांग्रेस पार्टी अपने कार्यकर्ताओं से ज्यादा से ज्यादा इस मांग के समर्थन में वोटिंग कराएगी, और वोटिंग का आंकड़ा केंद्र सरकार के पास भेजेगी कि इतने लोग कांग्रेस के इस अभियान के समर्थन में हैं। अभियान की तैय़ारियों को लेकर मंगलवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने सभी प्रदेशों के अध्यक्षों की बैठक भी लेकर दिशा-निर्देश जारी किए थे।


इधर राजस्थान के सह प्रभारी और कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विवेक बंसल ने प्रदेश के सभी जिला अध्यक्षों, मंत्रिमंडल के सदस्यों, विधायकों, पूर्व सांसदों, ब्लॉक अध्यक्षों,अग्रिम संगठनों और प्रकोष्ठ के अध्यक्षों से महा अभियान को सफल बनाने की अपील करते हुए कहा है कि कांग्रेस जन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम पर मजदूरों की आवाज पूरी ताकत के साथ बुलंद करें।

प्रदेश सह प्रभारी ने कहा की कोरोना संक्रमण के चलते राजनीतिक मंचों और सड़कों पर प्रदर्शन नहीं कर सकते लेकिन केंद्र सरकार तक मजदूरों की आवाज पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग करें।


संकट की इस घड़ी में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हमें मज़दूरों की आवाज बननी है उनको सहारा देना है। गौरतलब है कि कि लॉकडाउन लागू होने के बाद से ही कांग्रेस पार्टी हमलावर की भूमिका में है। प्रवासी मजदूरों के ट्रेन का खर्च उठाने के साथ ही बसों के जरिए उत्तर प्रदेश छोड़ने के मामले में कांग्रेस का यूपी सरकार से टकराव भी हो चुका है।

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned