भामाशाह डिजिटल योजना में फोन बेचने के नाम पर कर रहे हैं बड़ा घोटाला

भामाशाह डिजिटल योजना में फोन बेचने के नाम पर कर रहे हैं बड़ा घोटाला

Firoz Khan Shaifi | Publish: Sep, 16 2018 12:26:32 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 12:26:33 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता और शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास

जयपुर । प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता और शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार रिलायंस जियो कंपनी के साथ मिलकर भामाशाह डिजिटल योजना में करोड़ों रूपयों का घोटला कर रही है। इस योजना के तहत राज्य सरकार ने कहा था कि 1 करोड़ 60 लोगों को सरकार की योजनाओं से जोड़ने के लिए 1000 रूपये प्रति व्यक्ति बांटेगी।

 

इस योजना में जिन लोगों के पास पहले से स्मार्ट फोन है, उन्हें फोन खरीदे बिना भी राज्य सरकार सरकारी ऐप डाउनलोड करने के बाद 1000 रूपए देगी। लेकिन भाजपा के सभी विधायक, मंत्री और सरकार के अधिकारी सभी जगह लोगों को एकत्रित करके इस योजना में नहीं आने वाले लोगों तक को 1100 रूपए लेकर उन्हें फोन बेच रहे हैं। कई जगह तो राज्य सरकार के अधिकारियों ने जियो भामाषा योजना के नाम से आदेश जारी करके जियो कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ मिलकर लोगों से 1100 रूपये प्राप्त करके उन्हें फोन बांट दिए, यह सीधे-सीधे बड़ा घोटाला है।

इस योजना के तहत जरूरी नहीं है कि जियो कंपनी का फोन खरीदने के लिये सरकार लोगों को मजबूर करें। जिसके पास पहले से फोन हैं उसे 1000 रूपये बिना फोन खरीदे उपलब्ध कराना सरकार की जिम्मेदारी है लेकिन अब तक राजस्थान में जियो कंपनी के लगभग 7 लाख फोन सरकार की मिलीभगत से बेचे जा चुके हैं। राज्य की भाजपा सरकार रिलायंस जियो कंपनी के फोन बिकवाने के लिये यह योजना लेकर आई है।

इस योजना का बड़ा लाभ सरकार में बैठे नेताओं, अधिकारियों और जियो कंपनी को मिल रहा है। सरकार के विधायक और मंत्री खुले में जियो कंपनी के फोन बेचकर बड़े घोटाले को अंजाम दे रहे हैं।खाचरियावास ने कहा कि लाखों लोगों को तो यही पता नहीं है भामाशाह डिजिटल योजना का लाभ किसे मिलेगा, जिन लोगों को इस योजना का लाभ मिलने वाला नहीं है वो भी जब वहां एकत्रित हो जाते हैं तो जियो कंपनी के प्रतिनिधियों को 1100 रूपए दिलाकर लोगों से यह कहा जाता है कि जब आप इस फोन में सरकारी ऐप भामाषाह का डाउनलोड करेगें तो आपके खाते में 1000 रूपये स्वयं ही आ जायेंगे।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned