कंटेनमेंट प्लान, सैंपलिंग को लिखेंगे कोरोना कथा में

सभी कार्यों व प्रयासों का डॉक्यूमेंटेशन तैयार करने को कहा गया है, जो भावी पीढि़यों व आने वाली अन्य बीमारियों की रोकथाम व अनुसंधान में सहायक सिद्ध होगा। इस संबंध में सभी कार्यों की सूचना, रिकॉर्ड, नवाचार, फोटोग्राफ व वीडियो सुरक्षित रखे जाएंगे

By: Gaurav Mayank

Published: 14 Jun 2020, 09:15 PM IST

जयपुर। इस सदी की सबसे बड़ी वैश्विक आपदा की सरकार अब कोरोना कथा लिखेगी। इसके लिए सरकार ने जनवरी 2020 से कोरोना की रोकथाम व नियंत्रण के लिए जो भी काम यानी सरकारी व गैर सरकारी स्तर पर जो प्रयास किए थे, उसके बेहतर परिणाम सरकार को दिखने लगे हैं। सरकार की ओर से अब समेकित रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) व राज्य स्वास्थ्य व परिवार कल्याण (सीफू) के माध्यम से डॉक्यूमेंटेशन तैयार करवाया जा रहा है।

जन स्वास्थ्य निदेशक ने इस संबंध में आदेश जारी किए है। इसे लेकर सीफू के निदेशक को पत्र लिखा गया है ताकि इसे बेहतर तरीके से लिखा जा सके। निदेशक, ग्रामीण स्वास्थ्य ने सभी मेडिकल कॉलेजों के प्राचार्यों, सभी हॉस्पिटल अधीक्षकों, सभी सीएमएचओ व सभी पीएमओ को इसके निर्देश दिए हैं। इसमें सभी कार्यों व प्रयासों का डॉक्यूमेंटेशन तैयार करने को कहा गया है, जो भावी पीढि़यों व आने वाली अन्य बीमारियों की रोकथाम व अनुसंधान में सहायक सिद्ध होगा। इस संबंध में सभी कार्यों की सूचना, रिकॉर्ड, नवाचार, फोटोग्राफ व वीडियो सुरक्षित रखे जाएंगे।

ये करेंगे शामिल
- कोविड-19 रोग की रोकथाम व नियंत्रण के लिए किए गए प्रयास व नवाचार
- कंटेनमेंट प्लान का निर्माण
- सर्वेलेंस कार्य
- कांटेक्ट ट्रेसिंग
- सैंपलिंग
- उपचार
- कोविड केयर सेंटर स्थापना
- आईईसी गतिविधियां

Gaurav Mayank
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned