उच्च स्तर से हो रही सतत मॉनिटरिंग, उपभोक्ता सेवाओं के लिए बनाए कंट्रोल रूम

उच्च स्तर से हो रही सतत मॉनिटरिंग, उपभोक्ता सेवाओं के लिए बनाए कंट्रोल रूम

लॉकडाउन‘‘ में नियमित विद्युत एवं पेयजल आपूर्ति पर विशेष फोकसः जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री


उच्च स्तर से हो रही सतत मॉनिटरिंग, उपभोक्ता सेवाओं के लिए बनाए कंट्रोल रूम

कोराना वायरस की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए घोषित ‘लॉकडाउन‘ की अवधि में प्रदेश की जनता को पेयजल और विद्युत की निर्बाध आपूर्ति के लिए जलदाय और ऊर्जा विभाग के स्तर पर व्यापक व्यवस्थाएं की गई हैं। जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने बताया कि पूरे प्रदेश में नियमित पेयजल एवं विद्युत आपूर्ति व्यवस्था की उच्च स्तर से मॉनिटरिंग के लिए सभी जिलों से दैनिक रिपोर्ट ली जा रही है तथा इसकी समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश जारी किए जा रहे हैं।
डॉ. कल्ला ने प्रदेश में बिजली और पानी की आपूर्ति को बनाए रखने के लिए फील्ड में कार्य कर रहे जलदाय विभाग और विद्युत कम्पनियों के अधिकारियों, कर्मचारियों और सभी तकनीकी एवं संविदा कार्मिकों के जज्बे की सराहना की है। साथ ही आमजन से आग्रह किया है कि लॉकडाऊन के सम्बंध में जारी सरकार के सभी निर्देर्शों का पूर्णतः पालन करते हुए कोरोना को हराने की इस मुहिम में अपनी भागीदारी जिम्मेदारी के साथ निभाएं। उन्होंने बताया कि फील्ड में सभी कार्मिक कोरोना से बचाव के लिए मास्क सहित आवश्यक संसाधनों के साथ कार्य करे और उन्हें चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आए इसके लिए भी अधिकारियों को पाबंद किया गया है।
जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री ने बताया कि जनता को राहत प्रदान करने के लिए जयपुर, जोधपुर एवं अजमेर डिस्कॉम्स के तहत जिन उपभोक्ताओं के बिलों की देय तिथि 21 मार्च के बाद है, उनको आगे बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। वहीं जलदाय विभाग में भी मार्च 2020 के जल राजस्व बिलों की देय तिथि को आगे बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। इस सम्बंध में राज्य में विभाग के सभी खण्ड एवं उपखण्ड कार्यालयों को देय तिथि में शिथिलता देते हुए आगामी तिथियों का निर्धारण करने के लिए अधिकृत किया गया है। जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग में घर-घर वसूली और नीलामी कार्यक्रम भी स्थगित किए गए हैं।
डॉ. कल्ला ने बताया कि राज्य में लोगों को निर्बाध रूप से स्वच्छ पेयजल की सप्लाई में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आए, इसके लिए जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग में राज्य स्तर के साथ ही सभी जिलों में ‘कंट्रोल रूम‘ बनाए गए है, वहीं जयपुर, जोधपुर एवं अजमेर डिस्कॉम्स के तहत भी विद्युत आपूर्ति की निगरानी के लिए इसी प्रकार की व्यवस्थाएं की गई है। ये सभी कंट्रोल रूम 24 घंटे लगातार (24 गुणा 7) उपभोक्ताओं की सेवा में कार्यरत हैं। पेयजल या विद्युत आपूर्ति के सम्बंध में किसी भी प्रकार की समस्या और शिकायत होने पर यहां सम्पर्क किया जा सकता है।

जलदाय विभाग में जिला स्तर पर स्थापित नियंत्रण कक्षों के दूरभाष नम्बर निम्न प्रकार हैं-

जयपुर (अजमेरी गेट): 0141-2561423, जोधपुर शहरः 0291-2651710 एवं 2651711, बीकानेरः 0151-2226454, अजमेरः 0145-2970165, भरतपुरः 05644-222731, कोटाः 0744-2501961, उदयपुरः 0294-2481540, हनुमानगढ़ः 01552-260553, श्रीगंगानगरः 0154-2445031, भीलवाड़ाः 01482-240330, नागौरः 01582-240842, टोंकः 01432-247436, धौलपुरः 05642-220715, सवाई माधोपुरः 07462-220062, करौलीः 07464-250219, सीकरः 01572-251153, दौसाः 01427-220045, झुंझुनूः 01592-232636, झालावाड़ः 07432-230454, बारांः 07452-222617, बूंदीः 0747-2456448, अलवरः 0144-2337900, बाड़मेरः 02982-220253, जैसलमेरः 02992-252321, जालौरः 02973-222272, सिरोहीः 02972-220131, डूंगरपुरः 02964-232512, राजसमंदः 02952-223136, चितौड़गढ़ः 01472-240918, प्रतापगढ़ः 01478-222162, बांसवाड़ाः 02962-242531, पालीः 02932-221407 तथा चुरूः 01562-250343

जलदाय विभाग में राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नम्बरः 0141- 2222585

जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड

उपभोक्ता केंद्रीय कॉल सेंटर के टोल फ्री नंबर 18001806507 एवं 1912,
लैंडलाईन फोन नंबर 0141-2203000, मोबाइन नं. 9414037085, 9413375881 तथा 9413375882

अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड

उपभोक्ता केंद्रीय कॉल सेंटर के टोल फ्री नंबर 18001806565 एवं 1912,
लैंडलाईन फोन नंबर 0145-2670118

जोधपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड

उपभोक्ता केंद्रीय कॉल सेंटर के टोल फ्री नंबर 18001806045 एवं 1912,
फोन नंबर 0291-2741912, 2970136, मोबाइन नं. 9414084682, 9414084369
एवं व्हाट्सएप नंबर 9413359064 पर संपर्क कर शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned