जिला प्रशासन के दावे फेल, कंट्रोल रूम को मिली कालाबाजारी-मुनाफाखोरी की शिकायतें

प्रतिदिन 200 से ज्यादा शिकायतें पहुंच रही जिला कलेक्ट्रेट के कंट्रोल रूम, 80 फीसदी शिकायतें काला बाजारी और मुनाफाखोरी की

जयपुर। लॉकडाउन के दौरान कालाबाजारी और मुनाफाखोरी करने वालों के खिलाफ जिला प्रशासन की ओर से सख्त एक्शन लेने के दावे हवाई ही साबित हो रहे हैं। कलेक्ट्रेट की तरफ से भले ही इसके लिए पूरी टीम उतार दी गई हों लेकिन कालाबाजारी और मुनाफाखोरी रुकने का नाम ही नहीं ले रही है।

मुनाफाखोरी और कालाबाजारी रोकने के लिए जिला कलेक्ट्रेट में 24 घंटे के लिए स्थापित किए गए कंट्रोल रूम को सबसे ज्यादा शिकायतें इसी की मिल रही है। पिछले तीन दिनों में कंट्रोल रूम को 500 से ज्यादा शिकायतें मिल चुकी है, इनमें से 80 फीसदी शिकायतें कालाबाजारी और मुनाफाखोरी की हैं।


कमरा नबंर 4 में बना है कंट्रोल रूम
कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन के दौरान जनता को किसी भी तरह की समस्या हो, उसके निदान के लिए कलेक्ट्रेट के कमरा नंबर 4 में 24 घंटे का कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है, जिसमें विभिन्न अधिकारियों और कमर्चारियों की राउंड दा क्लॉक ड्यूटी लगाई गई है।

कंट्रोल रूम में तैनात कर्मचारी संबंधित अधिकारी के नंबर शिकायतकर्ता को दे रहे हैं, संबंधित अधिकारी इस पर कार्रवाई कर रहे हैं लेकिन शिकायतें इतनी अधिक है कि उनका समाधान जिला प्रशासन की ओर से नहीं किया जा रहा। कंट्रोल रूम को प्रतिदिन 100 से ज्यादा शिकायतें मिल रही हैं।


ये मिल रहीं शिकायतें
दरअसल बुधवार को कालाबाजारी और मुनाफाखोरी की शिकायतें सबसे ज्यादा मिलीं। शिकायतकर्ताओं ने टेलीफोन नंबर और स्वयं उपस्थित होकर इसकी शिकायत की। प्रशासन के पास दूध से लेकर आटा, दाल, चावल, सब्जी की कालाबाजारी की शिकायतें पहुंच रही है, कुछ लोग ऐसे भी हैं जो शिकायत कर रहे हैं कि उन्हें खाना नहीं मिल रहा है।

कई शिकायते ऐसी भी आईं जिसमें तय मूल्य से ज्यादा मूल्य में आटा बेचने का विरोध किया तो दुकानदारों ने ग्राहकों के साथ मारपीट की। गौरतलब है कि लॉक डाउन और जनता कर्फ्यू लागू करने से पहले जिला कलेक्टर की ओर से दावे किए गए थे कालाबाजारी करने वालों से सख्ती से पेश आएंगे।

इनका कहना है
शिकायतें मिली हैं, निरीक्षण के लिए कई टीमों को भेजा जाएगा, जो भी दुकानदार ऐसा करता पाया गया उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।
डॉ.जोगाराम, जिला कलेक्टर, जयपुर

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned