कैबीनेट मंत्री मास्टर भंवरलाल का विवादास्पद बयान

पने बयानों को लेकर चर्चित रहने वाले राज्य की गहलोत सरकार के कैबीनेट मंत्री मास्टर भंवर लाल ने गुरूवार को फिर भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए विवादास्प बयान दिया। उन्होंने भाजपा को घटिया सोच वाली पार्टी करार देते हुए कहा कि भाजपा वाले आज नाथूराम गोडसे की पूजा करते हैं, इससे घटिया काम और कुछ हो नहीं सकता।

गोडसे की पूजा करते हैं भाजपा वाले
कैबीनेट मंत्री मास्टर भंवरलाल का विवादास्पद बयान
भाजपा को बताया घटिया सोच वाली पार्टी
भंवर लाल ने कहा, इनकी फितरत ही ऐसी है
देश की आजादी में किसने दी कुर्बानी
भाजपा वालों को यह भी नहीं पता
जयपुर
अपने बयानों को लेकर चर्चित रहने वाले राज्य की गहलोत सरकार के कैबीनेट मंत्री मास्टर भंवर लाल ने गुरूवार को फिर भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए विवादास्प बयान दिया। उन्होंने भाजपा को घटिया सोच वाली पार्टी करार देते हुए कहा कि भाजपा वाले आज नाथूराम गोडसे की पूजा करते हैं, इससे घटिया काम और कुछ हो नहीं सकता।

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में शहीद दिवस पर आयोजित सर्वधर्म प्रार्थना सभा में आए कैबीनेट मंत्री भंवरलाल ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा वालों की सोच घटिया है, उन्हें यह भी पता नहीं है कि किन लोगों ने देश की आजादी के लिए अपनी कुर्बानी दी है। इनकी फितरत ही ऐसी रही है। भाजपा के लोगों को पता नहीं है कि देश किस तरह से आजाद हुआ हैं। सदियों सदियों तक यह देश गुलाम रहा। बरसों बरसों तक यहां अंग्रेजों का शासन रहा। उनको यह मालूम ही नहीं है कि देश को आजाद कराने वाले लोग कौन थे। हजारों ऐसे लोग थे जिन्होंने देश को आजाद कराने में अपना बलिदान दिया। लाखों ऐसे थे जिन्होंने सड़कों पर आकर देश का आजाद कराया। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता आज भी गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की पूजा करते है। मैं समझता हूं कि इससे घटिया काम इस देश में कुछ और हो नहीं सकता है।
आपको बता दें कि मास्टर भंवर लाल अशोक गहलोत की पिछली सरकार में भी अपने विवादों को लेकर चर्चा में रहे थे। उन्होंने अध्यापकों के तबादलों को लेकर जो बयान दिया था, उसका प्रदेशभर के अध्यापकों ने जबरदस्त विरोध किया था। अपनी बेबाकी को लेकर वे कांग्रेस पार्टी में भी चर्चा में रहते हैं।
पत्रकारों ने पीसीसी में आए मास्टर भंवर लाल से जब सरकार में कार्यकर्ताओं को एडजस्ट करने की बात कहीं तो उन्होंने बेबाकी से कहा कि कार्यकर्ता ऐसा नहीं होने से मायूस है। क्योंकि पहले लोकसभा चुनाव आ गए, फिर उपचुनाव हो गए, उसके बाद पंचायत चुनाव आ गए। अब निश्चित तौर पर सारे कार्यकर्ताओं को सरकार में ठीक ढंग से एडजस्ट कर दिया जाएगा, और सरकार में उनकी भागीदारी होगी।

महात्मा गांधी की हत्या को लेकर केवल भंवरलाल ने ही भाजपा को आड़े हाथों नहीं लिया। जब भी उनकी मौत का जिक्र होता है, कांग्रेस नेता भाजपा और आरएसएस पर हमला जरूर बोलते हैं। वे यह आरोप लगाने से नहीं चूकते कि महात्मा का हत्यारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का कार्यकर्ता नाथूराम गोडसे था।

BJP Congress
Prakash Kumawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned