scriptcorona | दूसरी डोज का बड़ा संकट, दो माह में 50 लाख लोगों को समय पर नहीं लगा दूसरा टीका | Patrika News

दूसरी डोज का बड़ा संकट, दो माह में 50 लाख लोगों को समय पर नहीं लगा दूसरा टीका


जितनी जरूरत रही, उतनी नहीं मिली वैक्सीन...

84 दिन की बजाय, 100 से 125 दिन तक का अब भी करना पड़ रहा इंतजार

जयपुर

Published: August 22, 2021 07:28:31 pm

विकास जैन

जयपुर. प्रदेश में जरूरत की तुलना में करीब 30 से 40 प्रतिशत वैक्सीन की कम आवक के कारण अब तक करीब 50 लाख लोग तय समय पर दूसरी डोज का टीका नहीं लगवा पाए हैं। दरअसल, प्रदेश में दूसरी डोज के सर्वाधिक चिन्हित लोग जुलाई और अगस्त माह में रहे और इन्हीें दोनों माह में प्रदेश को जरूरत की तुलना में करीब 50 लाख से 70 लाख हर माह कम वैक्सीन मिली। जिसके कारण दोनों माह में करीब 25—25 लाख लोग ऐसे रहे, जिनकी पहली डोज का टीके की 84 दिन की अवधि पूरी होने के बावजूद 100 से 125 दिन तक इंंतजार करना पड़ा।
corona_virus_covid_19.jpg
प्रदेश में अब भी रोजाना हजारों लोग दूसरी डोज के टीके के लिए चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उन्हें हर बार सिर्फ तारीख पर तारीख ही मिल रही है। एक तरफ प्रदेश में दूसरी डोज भी समय पर नहीं मिल पा रही, वहीं दूसरी तरफ पहली डोज का वैक्सीनेशन भी लगातार जारी है। अगस्त माह के दौरान भी करीब करीब हर दिन दूसरी डोज से अधिक वैक्सीनेशन पहली डोज का ही किया गया है।
वैक्सीन मिलने की गति बढ़ी, मगर जरूरत अब भी भी पूरी नहीं

प्रदेश को वैक्सीन मिलने की गति लगातार बढ़ रही है। जुलाई माह में भी प्रदेश के सरकारी अस्पतालों के लिए आवंटित 48 लाख वैक्सीन की तुलना में करीब 77 लाख वैक्सीन वास्तविक तौर पर आवंटित की गई। अब अगस्त माह के पहले 15 दिन में भी करीब 45 लाख डोज प्रदेश को मिल चुकी है। चिकित्सा विभाग को उम्मीद है कि अब इस माह प्रदेश को पहली बार एक करोड़ से अधिक वैक्सीन मिल सकती है। हालांकि चिकित्सा विभाग ने जुलाई माह के लिए डेढ़ करोड़ और अगस्त माह के लिए 2 करोड़ वैक्सीन की मांग केन्द्र से की थी।
शिविरों में नहीं मिलता प्रवेश

प्रदेश में टीकाकरण के लिए बड़े स्तर पर विभिन्न संस्थाओं की ओर से शिविर भी लगाए जा रहे हैं। इन संस्थाओं से जुड़े लोग इनमें टीका लगवा पा रहे हैं, लेकिन उन लोगों के लिए समस्या बड़ी है, जो किसी संस्था से नहीं जुड़े हैं और सामान्य तरीके से सरकारी केन्द्र पर वे आसानी से टीका नहीं लगवा पा रहे हैं। कई बार कई घंटों तक कतार में लगने के बावजूद उनका नंबर नहीं आ रहा और बिना टीका लगवाए ही उन्हें निराश लौटना पड़ रहा है।
देरी से दुष्प्रभाव नहीं, लेकिन समय पर लग जाए तो बेहतर

इधर, चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि दूसरी डोज का टीका देरी से लगने का कोई दुष्प्रभाव तो नहीं है, लेकिन दूसरा टीका भी समय पर लग जाए तो एंटी बॉडी में इजाफा होगा और कोविड से लड़ने की क्षमता में इजाफा होगा। गौरतलब है कि दूसरी डोज का टीका शुरूआत में विशेषज्ञों की सलाह से 28 दिन में ही लगाया गया था, बाद में विशेषज्ञों की सलाह पर ही इसे बढ़ाकर 84 दिन कर दिया गया।
दूसरी डोज की संख्या पहली से आधी भी नहीं

14 अगस्त
320593
121269

15 अगस्त
12643
5244

16 अगस्त
268276
121875

17 अगस्त
170504
62037

18 अगस्त
44556
20593

19 अगस्त
181797
80739

20 अगस्त
222120
85660

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.