विद्युत भवन में कोरोना अलर्ट, एक ब्लॉक को किया सीज, छह कर्मचारियों को किया होम क्वॉरेटाइन

विद्युत भवन में कोरोना अलर्ट, एक ब्लॉक को किया सीज, छह कर्मचारियों को किया होम क्वॉरीटंन

By: pushpendra shekhawat

Published: 01 Jun 2020, 08:42 PM IST

जया गुप्ता / जयपुर। भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष भंवरलाल शर्मा के अंतिम संस्कार में शामिल हुए एक भाजपा कार्यकर्ता को कोरोना पॉजिटिव आने से विद्युत भवन में भी अलर्ट किया गया है। दरअसल, यह कार्यकर्ता सेवानिवृत्ति के बाद कॉन्ट्रेक्ट पर जयपुर डिस्कॉम में कार्यरत है। पॉजिटिव आने की सूचना मिलने के बाद मंगलवार को विद्युत भवन के एक ब्लॉक को सीज किया गया है। इसके साथ ही छह कर्मचारियों को होम क्वॉरींटन होने के निर्देश दिए गए।

दरअसल, यह कर्मचारी पावर हाउस में कार्यरत था। इसके चलते प्रभावित इलाके को भी सेनेटाइज करवाया गया। वहीं यह कुछ दिन पहले ही विद्युत भवन आया था। इसीलिए एक हिस्से को एहतियातन सीज किया गया। डिस्कॉम में दो सहायक लेखा अधिकारी द्वितीय, दो कनिष्ठ लेखाकार, एक सूचना सहायक, एक वाणिज्यिक सहायक प्रथम को क्वॉरींटन किया गया है।

बिजली कर्मचारियों ने कालीपट्टी बांधकर जताया विरोध

केंद्र सरकार की ओर से प्रस्वावित विद्युत (संशोधन) विधेयक, 2020 के विरोध में नेशनल कॉर्डिनेशन कमेटी ऑफ इलेक्ट्रीसिटी एम्पलॉइज एंड इंजीनियर्स के आह्वान पर जयपुर में बिजली कर्मचारियों ने काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज करवाया। साथ ही सीएम, केंद्रीय विद्युत मंत्रालय को ज्ञापन भेजा गया। जिलाध्यक्ष संजय मीना ने बताया कि जब सारा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है, ऐसे समय में केंद्र सरकार बिजलीघरों के निजीकरण करने के लिए विधेयक लेकर आई है। इस विधेयक के पास हो जाने से वितरण निगमों में फ्रेंचाइजी मॉडल को अपनाकर निजीकरण किया जाएगा। इस प्रकिया के लिए ठेकेदार कम्पनी को विनियामक आयोग से लाइसेंस लेने की आवश्यकता को भी समाप्त कर दिया जाएगा। निजीकरण करने वाले इस विधेयक से बेरोजगार युवाओं को निराशा हाथ लगेगी।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned