मंगल कार्यों की कुंडली पर कोरोना की वक्रदृष्टि, 600 करोड़ का नुकसान

प्रदेश में हजारों शादी-समारोह की बुकिंग निरस्त

By: jagdish paraliya

Published: 06 Apr 2020, 05:13 PM IST

कई समारोह आगे बढ़ाने पर संचालक कर रहे राशि समायोजित
जयपुर. दुनिया कोरोना का दंश झेल रही है। फिलहाल माहमारी से बचाव के लिए लॉकडाउन ही सबसे बड़ा बचाव सामने आया है। लॉकडाउन के चलते प्रदेश में मांगलिक कार्यों शादी समारोह, सेवानिवृत्ति समारोह, सालगिरह, नवरात्रि महोत्सव, सगाई, गृहप्रवेश, मुंडन जैसे कार्यों पर विराम लगने से होटल, मैरिज गार्डन आदि की ७००० से अधिक बुकिंग निरस्त होने से संचालकों को ५०० करोड़ से अधिक का नुकसान हुआ है। होटल, रिसोर्ट, समुदायिक भवन, बैंड बाजे, किराना, कपड़ा, आभूषण विक्रेताओं समेत विवाह व समारोह से संबंधित सभी व्यवसाय प्रभावित हो रहे हैं।

सरकार ने किए अधिग्रहीत
भीलवाड़ा शहर में 22 होटल, 18 सामुदायिक भवन, 14 मैरिज गार्डन व 6 धर्मशालाएं जिला प्रशासन ने अधिग्रहित कर रखी है।

अबूझ सावों पर भी संकट
लॉकडाउन १४ अप्रेल तक हेाने से 16 व 20 अप्रेल के विवाह के मांगलिक कार्य निरस्त हेाने के साथ 26 अप्रेल को अक्षया तृतीया (आखा तीज) के अबूझ सावे भी अब स्थगित होने लगे हैं। बारां के कई मैरिज गार्डन संचालकों का कहना है कि बुकिंग कराने वाले ज्यादातर लोगों ने अब आगामी नवम्बर व दिसम्बर माह में शादी समारोह शिफ्ट करना शुरू कर दिया है। जो लोग उपयुक्त सावे नहीं मान रहे उनको बुकिंग राशि वापस भी की जा रही है।

...तो होगी मुश्किल
हिंदू पंचांग की मान्यता के अनुसार लगभग 1 महीने से सभी मांगलिक कार्य बंद हैं। खरमास के चलते शादी, सगाई, मुंडन, गृह प्रवेश, भूमि पूजन और नए व्यापार आदि अब 14 अप्रैल से किए जा सकेंगे। बीकानेर में 14 अप्रेल से पहले विवाह गृह प्रवेश तथा मुंडन जैसे कार्य नहीं होने से खास असर नहीं पड़ा। 14 अप्रेल के बाद अगर लॉक डाउन प्रभावी रहता है तो असर देखने को मिलेगा। लॉक डाउन के दौरान बीकानेर की होटलों और मैरिज पैलेस को बुक करवाने वाले ग्राहकों को कुछ संचालक रुपए वापस कर रहे हैं, जबकि कुछ टालमटोल।

प्रदेशभर में अप्रेल में मांगलिक कार्यों सहित करीब 7000 शादियां तय थी। अब ये कार्यक्रम नहीं होने से तकरीबन 500 करोड़ रुपए का नुकसान होगा। वहीं जयपुर विवाह स्थल समिति के मुताबिक अप्रैल में जयपुर शहर और ग्रामीण में 3000 के आसपास एकल और सामूहिक शादियां नहीं होने से ३०० करोड़ का नुकसान हुआ है।
मोहनलाल अग्रवाल, अध्यक्ष मैरिज गार्डन एसोसिएशन

30 अप्रेल तक की बुकिंग नहीं की जाएगी। वहीं कोई आगे आयोजन करते हैं तो उन्हें अग्रिम राशि समायोजित कर दी जाएगी। कार्यक्रम निरस्त होने पर लौटा दी जाएगी।
रवि जिंदल, प्रदेश अध्यक्ष राजस्थान टैंट डीलर्स किराया व्यवसाय समिति

jagdish paraliya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned