दाम बढ़े तो कंपनियों ने सरकार को मास्क देने से किया मना, 88 पैसे का मास्क अब पड़ रहा 6.5 रुपए का

सरकार को दिखाया ठेंगा, महामारी में दाम बढ़े तो कंपनियों ने मास्क देने से किया मना, वर्ष 2018 में 88 पैसे प्रति मास्क तय हुई थी दर, 30 जून तक का था कॉन्ट्रेक्ट

By: pushpendra shekhawat

Published: 16 May 2020, 12:57 PM IST

विकास जैन / जयपुर. प्रदेश में सरकार कोरोना महामारी और आर्थिक संकट से जूझ रही है। लोग बढ़-चढ़कर आर्थिक व अन्य सहयोग कर रहे हैं। जबकि राज्य सरकार को मास्क की आपूर्ति करने वाली तीन कंपनियों ने महामारी के समय दाम बढ़ते ही सरकार को ठेंगा दिखा दिया है।

मास्क की आपूर्ति करने से इनकार कर दिया है। राजस्थान मेडिकल सर्विसेज कॉरपोरेशन लिमिटेड (आरएमएससी) में ऐसा ही मामला सामने आया है, जिसमें 20 लाख ट्रिपल लेयर मास्क की खरीद 2018 में तय हुई दर 88 पैसे प्रति मास्क के बजाय अब 6.5 रुपए प्रति मास्क में की जा रही है। अब सरकार को लगभग 19 लाख रुपए में पडऩे वाले मास्क सवा करोड़ रुपए में खरीदने पड़ रहे हैं।

यों तय हुई थी दर
दो साल पहले कॉरपोरेशन ने मास्क की सतत आपूर्ति के लिए प्रक्रिया की थी। इसमें न्यूनतम दर 88 पैसे एक कंपनी ने दी थी। नियमानुसार इससे ऊपर कीमत देने वाली दो कंपनियों को भी बुलाया गया। उनकी सहमति से 75 प्रतिशत आपूर्ति पहली, 15 प्रतिशत दूसरी और 10 प्रतिशत आपूर्ति तीसरी कंपनी को करनी थी। यह कॉन्ट्रेक्ट 30 जून 2020 तक के लिए हुआ।


इसलिए आया लालच

मार्च में महामारी की शुरुआत होते ही मास्क के दाम बढऩे लगे और कीमत कई गुना बढ़ गई। ऐसे में कंपनियों ने आपूर्ति बंद कर दी। जानकारी के मुताबिक अब 20 लाख रुपए की अन्य खरीद प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है। उसकी कीमत 6.5 रुपए से कम लेकिन 88 पैसे प्रति मास्क से कई गुना अधिक है।

इन कंपनियों को करनी थी आपूर्ति

75 प्रतिशत : सारा हैल्थ केयर लिमिटेड

15 प्रतिशत : लाइफ केयर सर्जिकेम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड

10 प्रतिशत : एमके प्रोडक्टस प्राइवेट लिमिटेड


महामारी में दाम बढ़ते ही तीनों कंपनियों में लालच आ गया। उक्त कंपनियों को ब्लैक लिस्ट तो करेंगे ही, उनसे रिकवरी करेंगे और पुलिस में एफआइआर दर्ज कराएंगे। कंपनियों के मना करने के बाद हमें नई निविदा में रेट 9 रुपए तक मिली थी। उसे कम करवाकर 6.5 रुपए तय कराया, अब नई निविदा में इससे भी कम दर आ रही है।

- प्रीतम बी. यशवंत, प्रबंध निदेशक, आरएमएससी

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned