पालतू पशुओं में भी कोरोना

हाल ही में दिल्ली में राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) में बनाए गए कोरोना कंट्रोल रूम में लोगों ने अपने पालतू जानवरों से संक्रमण फैलने संबंधी सवाल भी पूछे थे। संक्रमण की भयावहता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि अब वायरस इंसानों तक सीमित नहीं रहा। यह पालतू जानवरों के लिए भी खतरा बन गया है।

By: dhirya

Published: 19 Mar 2020, 01:18 AM IST

हांगकांग सिटी . वुहान समेत पूरे चीन में 3,237 लोगों की जान ले चुका कोरोना वायरस (कोविड 19) 170 देशों को अपनी चपेट में ले चुका है। इससे लोग तमाम आशंकाओं से घिरे हैं।
हाल ही में दिल्ली में राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) में बनाए गए कोरोना कंट्रोल रूम में लोगों ने अपने पालतू जानवरों से संक्रमण फैलने संबंधी सवाल भी पूछे थे। संक्रमण की भयावहता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि अब वायरस इंसानों तक सीमित नहीं रहा। यह पालतू जानवरों के लिए भी खतरा बन गया है। हांगकांग में कोरोना संक्रमित 17 साल के पामेरैनियन नस्ल के डॉगी ने 16 मार्च को दम तोड़ दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण कोरोना वायरस बताया गया। हैरान करने वाली बात यह है कि 14 दिनों की निगरानी में रखने के बाद उसे वायरस मुक्त घोषित किया गया था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हांगकांग कृषि, मत्स्यपालन और संरक्षण विभाग (एएफसीडी) के प्रवक्ता ने बताया कि डॉगी 60 वर्षीय महिला चाउ हाउ यी का था। 25 फरवरी को अस्पताल में भर्ती कराई गई महिला में संक्रमण की पुष्टि हुई थी। सेहत में सुधार होने के बाद 8 मार्च को उन्हें छुट्टी दे दी गई थी। संक्रमण के लक्षण दिखने के बाद डॉगी को 26 फरवरी से अलग कर कई परीक्षण किए गए थे। डब्ल्यूएचओ ने कहा था कि किसी डॉगी में इस वायरस के लक्षण मिलने का यह पहला मामला है।
...लोग भूखे मर जाएंगे : इमरान
ची न की दो दिन की यात्रा से लौटने के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी को 5 दिन के लिए खुद को अलग कर लिया है। पाकिस्तान में बुधवार को नौ नए मामलों के बाद कुल संक्र्रमितों की संख्या 256 पहुंच गई है, जबकि 1 की मौत हो चुकी है।
आर्थि रूप से तंगी झेल रहे पाकिस्तान ने 270 सरकारी अस्पतालों और लैब क्षमता बढ़ाने के लिए विश्व बैंक से करीब 1500 करोड़ रुपए का कर्ज मांगा है। मंगलवार को पीए इमरान खान ने टीवी पर दिए संबोधन में कहा कि संक्रमण रोकने के लिए हम दूसरे देशों की तरह शहरों को बंद नहीं कर सकते। अगर हमने शहरों को बंद कर दिया तो हम पहले से ही मुश्किल हालात में रह रहे अपने नागरिकों को कोरोना वायरस से तो बचा लेंगे लेकिन वे भुखमरी से मारे जाएंगे।
मेरे यहां एक भी केस नहीं: किम जोंग
उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन ने दावा किया है कि उनके देश में कोरोना वायरस का अब कोई मामला नहीं है। हमने सीमा बंद, 30 दिन तक सबको अलग-थलग करने और चीन के साथ व्यापार रोककर हालात काबू में रखे हैं। वहीं विशेषज्ञों ने कहा कि उत्तर कोरिया संकट को छिपाने की कोशिश कर रहा है। ऐसा वह इसलिए कर रहा है ताकि देश की अर्थव्यवस्था, मानवाधिकार उल्लंघन के मुद्दों और अन्य अपराधों से लोगों का ध्यान हटाया जा सके।

dhirya Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned